close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

न्यूयॉर्क में इलाज करा रहे ऋषि कपूर का छलका दर्द, कहा- 'क्या कभी घर लौट पाऊंगा'

हाल ही में मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में ऋषि ने अपने इलाज के सफर के बारे में खुलकर बात की थी, जहां ऋषि ने बताया था कि अभी उन्हें न्यूयॉर्क से वापस भारत लौटने में 2 महीने का वक्त और लगेगा क्योंकि उनका अभी बोन मैरो ट्रांसप्लांट होना बाकी है.

न्यूयॉर्क में इलाज करा रहे ऋषि कपूर का छलका दर्द, कहा- 'क्या कभी घर लौट पाऊंगा'
66 साल के ऋषि फिल्मों में आखिरी बार फिल्म 'मंटो' में नजर आए थे.

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर ऋषि कपूर जब बीते साल अचानक अपनी इलाज के सिलसिले में न्यूयॉर्क गए तभी से उनके चाहने वाले उनकी खैरियत के लिए दुआएं मांग रहे हैं. वहीं, हाल ही में ऋषि कपूर ने अपनी बीमारी से पर्दा उठाते हुए अपने दर्द की कहानी सबके सामने स्वीकार की थी. उन्होंने माना था कि वह कैंसर का इलाज कराने न्यूयॉर्क में हैं, लेकिन अब 8 न्यूयॉर्क में रहने के बाद उन्होंने शुक्रवार उन्होंने एक ट्वीट कर अपना दर्द बयाम किया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'आज मुझे न्यूयॉर्क में आठ महीने हो गए हैं. क्या मैं कभी घर जा पाऊंगा?' 

दो महीने का वक्त और लगेगा
हाल ही में मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में ऋषि ने अपने इलाज के सफर के बारे में खुलकर बात की थी, जहां ऋषि ने बताया था कि अभी उन्हें न्यूयॉर्क से वापस भारत लौटने में 2 महीने का वक्त और लगेगा क्योंकि उनका अभी बोन मैरो ट्रांसप्लांट होना बाकी है. इस बातचीत में ऋषि कपूर ने बताया था कि इस दौरान उनकी पत्नी नीतू उनके साथ चट्टान की तरह खड़ी रहीं. ऋषि ने कहा, 'इस कठिन समय में नीतू मेरे साथ किसी चट्टान की तरह रही, नहीं तो मैं खाने और पीने के मामले थोड़ा कमजोर और लापरवाह आदमी हूं. नीतू ही नहीं बल्कि इस समय में मेरे बच्चों रणबीर और रिद्धिमा ने भी मेरी परेशानी में कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया.' 
 
आखिरी बार फिल्म 'मंटो' में नजर आए थे ऋषि कपूर
ऋषि ने आगे बताया कि उनका यह लंबा इलाज पिछले साल यूएस में शुरू हुआ था. उन्होंने कहा, 'भगवान का शुक्र है, मैं अब कैंसर से मुक्त हो चुका हूं, लेकिन अभी पूरी तरह इलाज नहीं हो सका है. अभी मेरा बोन मैरो ट्रांसप्लांट बाकी है जिसमें लगभग दो महीने और लगेंगे.' ऋषि ने कहा कि इस बीमारी ने उन्हें काफी संयमित रहना सिखाया है. बीमारी के बाद स्वस्थ होना बहुत ही धीमी प्रक्रिया है लेकिन यह आपको आपकी जिंदगी की कद्र करना सिखा देता है. 'आज मुझे न्यूयॉर्क में आठ महीने हो गए हैं। क्या मैं कभी घर जा पाऊंगा?'हालांकि इस पूरे इलाज के दौरान ऋषि कपूर लगातार अपनी सोशल मीडिया वॉल पर अपनी तस्वीरें और अहम मुद्दों पर विचार रखकर अपनी मौजूदगी दर्ज कराते रहे हैं. 66 साल के ऋषि फिल्मों में आखिरी बार फिल्म 'मंटो' में नजर आए थे.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें