रिटायर्ड फौजी मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, हाथ लगी कॉल रिकॉर्डिंग
X

रिटायर्ड फौजी मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, हाथ लगी कॉल रिकॉर्डिंग

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रिटायर्ड फौजी सुधीर के हत्याकांड मामले में कई खुलासे किए हैं. पुलिस को आरोपी हेडकांस्टेबल की कई कॉल रिकॉर्डिंग मिली हैं, जिसमे आरोपी गोली मारकर हत्या करने की बात कह रहा है. 

रिटायर्ड फौजी मर्डर केस में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, हाथ लगी कॉल रिकॉर्डिंग

नई दिल्ली: दिल्ली के ज्योति नगर इलाके में रिटायर्ड फौजी सुधीर के हत्याकांड मामले में अब क्राइम ब्रांच का एक ASI भी गिरफ्तार हो सकता है. दरअसल दिल्ली पुलिस को इस हत्याकांड में कई अहम सबूत हाथ लगे हैं. पुलिस को हेडकॉन्स्टेबल और एएसआई की बातचीत की रिकॉर्डिंग भी मिली है, जिसमें एएसआई अपनी टीम में शामिल रहे आरोपी हेड कॉन्स्टेबल घनश्याम को खुद हत्या करने की बजाय बाहरी लोगों से कराने की सलाह दे रहा है.

महीने भर पहले ही रची गई थी हत्या की साजिश

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी हेडकांस्टेबल घनश्याम ने हत्या की साजिश करीब 1 महीने पहले ही रच दी थी. जिसके लिए आरोपी हेडकॉन्स्टेबल ने कल्याणपुरी के बदमाश अजय उर्फ अज्जू को काम सौंपा. इसके बाद कल्याणपुरी के चंद्रमोहन उर्फ भूरा और बुद्ध विहार के कुनाल उर्फ कुक्कू से ज्योति नगर इलाके में रह रहे रिटायर्ड फौजी सुधीर पर 10 सितंबर को गोली चला दी. जहां सुधीर की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई.

घनश्याम ने ही करवाया फौजी का मर्डर

पुलिस सूत्रों के मुताबिक क्राइम ब्रांच के स्पेशल इनवेस्टिगेशन यूनिट (SIU) में तैनात हेड कॉन्स्टेबल घनश्याम और हेड कॉन्स्टेबल अनिल कुमार में दोस्ती थी. दोनों एक ही बैच के हैं और लंबे समय से एक टीम में थे. दोनों का घरेलू रिश्ता भी था. अनिल के बड़े भाई सुधीर आर्मी में थे. तभी आरोपी हेडकांस्टेबल घनश्याम का सुधीर की पत्नी से नजदीकियां हो गईं. यह रिश्ता करीब 7 साल तक रहा. अनिल के बड़े सुधीर मई 2020 में रिटायर होकर घर आ गए. इसके बाद उनकी पत्नी ने घनश्याम से दूरी बना ली. इस बात से खफा होकर हेडकांस्टेबल घनश्याम ने बदमाशों को हायर कर फौजी सुधीर की गोली मरवाकर हत्या करवा दी.

यह भी पढ़ें: मंत्री ने आर्यन की जांच करने वाले अफसर पर लगाया वसूली का आरोप, वानखेड़े ने दिया जवाब

'7 साल की बर्बादी के लिए 7 मर्डर करेगा'

घनश्याम की वायरल रिकॉर्डिंग से पता चलता है कि सुधीर को पत्नी से उसके रिश्तों की जानकारी थी. सूत्रों ने बताया कि इस रिकॉर्डिंग में घनश्याम कह रहा है कि उसकी भावनाओं से खिलवाड़ किया गया है. यह उसके साथ साजिश के तहत किया गया है. वह इंस्पेक्टर पंकज अरोड़ा की टीम में शामिल अपने साथी एएसआई से कह रहा है कि उसके 7 साल बर्बाद हुए हैं तो वह 7 मर्डर करेगा. यहां तक महिला के देवर और अपने साथी हेड कॉन्स्टेबल अनिल को भी मारने की बात भी कर रहा है. वह रोते हुए कह रहा है कि उसके पास पिस्टल और कट्टे दोनों हैं. वह अब रुकने वाला नहीं है. महिला के पति सुधीर की हत्या तो वह करके ही रहेगा. इसके बाद वो कहता है कि वो देखेगा कि उस औरत को फिर कौन अपनाता है.

'किराए के टट्टू बहुत हैं... किसी से भी मरवा लो'

जांच अफसरों का दावा है कि वायरल रिकॉर्डिंग में एएसआई कह रहा है, 'मारने वाले किराए के टट्टू भतेरे हैं. किसी से किसी को मरवा लो...समझदार आदमी दिमाग से काम लेता है.' दूसरी रिकॉर्डिंग में वो कह रहा है कि अगर वह औरत इस लायक नहीं है तो उसे भूल जाओ, बाकी बहुत इलाज है. तीसरी रिकॉर्डिंग में वो कह रहा है कि 'सारे काम होते हैं. खुद इलाज करना है तो इकराम ने इलाज किया था क्या हुआ...दूसरे तरीके भतेरे हैं..ये तो गीता में भी लिखा है कि दुश्मन को दुश्मन के हिसाब से मारो, ना कि सामने आकर..'

यह भी पढ़ें: मंत्री बोले- 95% को पेट्रोल की नहीं जरूरत, मुट्ठीभर लोग चलाते हैं फोर व्हीलर

इस मामले में हुई दिल्ली पुलिस की छवि धूमिल

इन ऑडियो के लीक होने के बाद अब सीनियर ऑफिसर इस मामले पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं. क्योंकि इस मामले ने दिल्ली पुलिस की छवि को बदनाम कर दिया है. पुलिस ऑफिसर का ये भी कहना है आने वाले दिनों में जल्द इस मामले में इंस्पेक्टर पंकज अरोड़ा की टीम में शामिल कई लोगों पर गाज भी गिर सकती है. इस मामले में सबसे बड़ी बात ये भी है कि हत्या के करीब 1 महीने बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में हेडकांस्टेबल को गिरफ्तार किया है. अब सवाल ये है कि वो कौन पुलिसकर्मी है जो इस घनश्याम के गुनाह पर पर्दा डाल रहे थे.

LIVE TV

Trending news