हुबली: गृह मंत्री अमित शाह ने बोला राहुल पर हमला, कहा- पीएम मोदी ने सही की आपके नाना की गलती

नागरिकता क़ानून के समर्थन में कर्नाटक के हुबली में शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला. 

हुबली: गृह मंत्री अमित शाह ने बोला राहुल पर हमला, कहा- पीएम मोदी ने सही की आपके नाना की गलती

हुबली: नागरिकता क़ानून के समर्थन में कर्नाटक के हुबली में शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला. शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने आपके नाना की गलती सही की है. 

शाह ने कहा, "इस देश का धर्म के आधार पर विभाजन कांग्रेस पार्टी ने किया. इस देश के टुकड़े किए. इसके बाद दोनों जगह पर अल्पसंख्यक रह गए. हमारे देश में बहुत से मुस्लिम भाई रह गए. पाकिस्तान के दोनों हिस्से में हिंदू, जैन और सिख रह गए. 1950 में आपके नाना जवाहर लाल नेहरू ने लियाकत अली के साथ एग्रीमेंट किया था और कहा कि दोनों देश अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देंगे. नौकरी देंगे. पढ़ाई-लिखाई, स्वास्थ्य की व्यवस्था करेंगे. 70 साल बाद आज भारत ने अपना वादा निभाया लेकिन पाकिस्तान अपना वादा नहीं निभा सका." 

शाह ने कहा, "हमने मुसलमानों, जैन, बुद्ध, सिख और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों को गले लगाया और उनके साथ कोई भेदभाव नहीं किया. न तो उनकी आबादी घटी और न ही उन्हें नौकरी से वंचित किया गया. लेकिन बांग्लादेश, पाकिस्तान में हिंदुओं का उत्पीड़न किया था. विभाजन के समय पाकिस्तान-बांग्लादेश में 30% हिंदू थे लेकिन अब बांग्लादेश में ये घटकर सिर्फ 7% रह गए हैं. पाकिस्तान में सिर्फ 3% हिंदू रह  गए हैं."

शाह ने कहा, "जो लोग नागरिकता कानून को लेकर हो-हल्ला करते हैं, मैं उनसे पूछ्ना चाहता हूं कि 30% से हिंदू 7% प्रतिशत कैसे रह गए. इसका जवाब मैं आपको देना चाहता हूं कि पाकिस्तान-बांग्लादेश में हिंदुओं के साथ उत्पीड़न हुआ. या तो उन्हें मार दिया गया, या फिर उनका धर्म परिवर्तन हुआ. या फिर वो आज भारत के शरण में हैं." 

शाह ने राहुल पर धावा बोलते हुए कहा, "राहुल गांधी भी कहते हैं कि 370 नहीं हटना चाहिए, इमरान खान भी कहते हैं नहीं हटना चाहिए. दोनों कहते हैं कि सीएए नहीं आना चाहिए. मुझे समझ नहीं आता कि कांग्रेस और पाकिस्तान के बीच रिश्ता क्या है? राहुल बाबा के नाना जी जो गलती करके गए थे नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर उसे सुधारने के काम किया है. अफगानिस्तान में भगवान बुद्ध की मूर्ति पर गोले दागकर तोड़ दिया गया. प्रताड़ित भाई भारत में आए. आज हम सीएए लेकर आए हैं. हमने उन भाइयों-बहनों को सम्मान दिया है."