अर्चना मकवाना: स्वर्ण मंदिर में योग से सिखों को नाराज करने वाली यह लड़की कौन है?
Advertisement
trendingNow12305649

अर्चना मकवाना: स्वर्ण मंदिर में योग से सिखों को नाराज करने वाली यह लड़की कौन है?

Archana Makwana News: इंस्टाग्राम इन्फ्लुएंसर अर्चना मकराना के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने का केस दर्ज हुआ है. उन्होंने 21 जून को 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' के मौके पर अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में शीर्षासन किया था और उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की थीं.

अर्चना मकवाना: स्वर्ण मंदिर में योग से सिखों को नाराज करने वाली यह लड़की कौन है?

Yoga in Golden Temple Amritsar: पंजाब पुलिस ने अर्चना मकवाना के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. उन पर सिखों की धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप है. शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने शनिवार को मकवाना के खिलाफ शिकायत दी थी. अर्चना ने 21 जून को अमृतसर स्थित श्री दरबार साहिब (स्वर्ण मंदिर) में योग किया था. SGPC का कहना है कि अर्चना की हरकत से गुरुद्वारे की पवित्रता भंग हुई है.

अर्चना मकवाना कौन हैं?

अर्चना मकवाना की पहचान एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के रूप में है. वह गुजरात के वडोदरा में House Of Archana नाम का फैशन डिजाइन ब्रांड भी चलाती हैं. वह Healing Tattvas नाम के ब्रांड से भी जुड़ी हैं और अपनी यात्राओं को एक ब्लॉगर की तरह पेश करती हैं. अर्चना के इंस्टाग्राम पर 1.40 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं. वह खुद को 'फैशन डिजाइनर, आंत्रप्रेन्योर, इन्फ्लुएंसर और ट्रेवल & फैशन ब्लॉगर' बताती हैं.

21 जून को आखिर क्या हुआ था?

21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाता है. अर्चना उस दिन सुबह-सुबह गोल्डन टेंपल पहुंची और 'शीर्षासन' किया. उन्होंने इसकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर डाले. इस घटना ने सिख समुदाय को नाराज कर दिया. SGPC के के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने कहा कि कुछ लोग जानबूझकर पवित्र स्थान की पवित्रता को नजरअंदाज कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि महिला के कृत्य से सिखों की भावनाएं आहत हुई हैं. 

SGPC ने एक जांच कमेटी बनाई है. इस कमेटी ने कर्तव्य में लापरवाही बरतने के लिए सेवादारों से पूछताछ की. SGPC ने तीन सेवादारों के खिलाफ कार्रवाई भी की है. वहीं, स्वर्ण मंदिर के महाप्रबंधक भगवंत सिंह धंगेरा के मुताबिक, "सीसीटीवी कैमरा की जांच में पता चला कि अर्चना ने सुबह 7.04 बजे योग किया था. वह करीब घंटे भर तक 'परिक्रमा' में रहीं लेकिन उन्होंने इस दौरान कोई श्रद्धा नहीं दिखाई."

यह भी पढ़ें: यहां उठती है गर्भवतियों और बीमारों की डोली! सरकार न मानी तो खुद सड़क बना रहे आदिवासी

जान से मारने की धमकी, मांगी माफी

सोशल मीडिया पर अर्चना मकवाना के खिलाफ अभियान सा चल पड़ा. जान से मारने की धमकियां मिलने के बाद, गुजरात पुलिस ने रविवार को अर्चना को सुरक्षा मुहैया कराई है. उनसे कहा गया है कि वे कुछ दिन तक अपने घर में ही रहें. विवाद के जोर पकड़ने पर, अर्चना ने सार्वजनिक रूप से मांगी माफी है. उन्होंने फोटो-वीडियो हटाते हुए शनिवार को एक बयान जारी किया. अर्चना ने कहा कि 'मैंने कभी नहीं सोचा था कि इससे किसी की भावनाएं आहत होंगी.'

Trending news