CAA: मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल बोले, 'असम की मिट्टी के लोगों के अधिकार कोई नहीं छीन सकता'
topStorieshindi

CAA: मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल बोले, 'असम की मिट्टी के लोगों के अधिकार कोई नहीं छीन सकता'

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोबाल ने कहा, 'मैं एक भूमिपुत्र हूं और मैं यहां असम के लोगों के हितों की रक्षा के लिए हूं.'   

CAA: मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल बोले, 'असम की मिट्टी के लोगों के अधिकार कोई नहीं छीन सकता'

गुवाहाटी: असम (Assam) के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) ने कहा है सीएए (caa) से असम के लोगों के अधिकार और असम की भाषा और संस्कृति को कई खतरा नहीं है. उन्होंने कहा कि यह कानून असम के सम्मान को कोई ठेस नहीं पहुंचाएगा. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग जनता को गुमराह कर रहे हैं. हमें हमेशा जनता का समर्थन मिला है. सर्बानंद सोनोबाल ने कहा, 'मैं एक भूमिपुत्र हूं और मैं यहां असम के लोगों के हितों की रक्षा के लिए हूं.' 

बता दें सीएए का असम में जबरदस्त विरोध हो रहा है. सीएए का विरोध राज्य में हिंसक रूप ले चुका है. सीएए के खिलाफ बड़े पैमाने पर हिंसक विरोध के बाद 11 दिसंबर को गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट, तिनसुकिया और असम के कुछ अन्य शहरों में कर्फ्यू लगाया गया था और सेना तैनात की गई थी. असम में लगाया गया कर्फ्यू मंगलवार को हटा लिया गया.

वहीं दूसरी तरफ गुरुवार को देश भर में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तीन जगह - लाल किला, जंतर मंतर, मंडी हाउस में विरोध प्रदर्शन हुए. इसके अलावा लखनऊ, मुंबई, बेंगलुरू, मंगलौर, चेन्नई समते देश के कई शहरों में सीएए के विरोध में प्रदर्शन हुए. 

Trending news