Bengaluru: डिलीवरी बॉय को निकालने पर Zomato की सफाई, कहा- कर्मचारी को केवल सस्पेंड किया है
X

Bengaluru: डिलीवरी बॉय को निकालने पर Zomato की सफाई, कहा- कर्मचारी को केवल सस्पेंड किया है

बेंगलुरु में फूड डिलीवरी विवाद में महिला कस्टमर को पंच मारने के आरोपी डिलीवरी बॉय पर जोमैटो (Zomato) कंपनी ने बयान जारी किया है. कंपनी ने कहा है कि उसने डिलीवरी बॉय को टर्मिनेट नहीं बल्कि पुलिस जांच पूरी होने तक केवल सस्पेंड किया है. 

Bengaluru: डिलीवरी बॉय को निकालने पर Zomato की सफाई, कहा- कर्मचारी को केवल सस्पेंड किया है

बेंगलुरु: बेंगलुरु (Bengaluru) में फूड डिलीवरी में देरी होने पर कथित रूप से महिला कस्टमर को पंच मारने के विवाद में नया मोड़ आ गया है. जोमैटो (Zomato) कंपनी ने कहा है कि उसने अपने कर्मचारी (Zomato Delivery Boy) को नौकरी से निकाला नहीं है बल्कि कुछ समय के लिए सस्पेंड किया है. पुलिस की जांच पूरी होने के बाद उसके बारे में फैसला लिया जाएगा. 

Zomato ने ट्वीट कर दी सफाई

जोमैटो (Zomato) ने ट्वीट करके कहा है कि वह अपने डिलीवरी पार्टनर के साथ लगातार टच में है. डिलीवरी बॉय कामराज को केवल पुलिस जांच तक के लिए सस्पेंड किया गया है. कंपनी अपने कर्मचारी की लगातार मदद कर रही है. 

 

सच्चाई तक पहुंचना चाहते हैं- दीपिंद्र गोयल

वहीं जोमैटो (Zomato) के फाउंडर दीपिंद्र गोयल ने भी ट्वीट करके कहा,'हम मामले की सच्चाई तक पहुंचना चाहते हैं. हम हितेशा चंद्राणी और कामराज दोनों के संपर्क में हैं और जांच में सहयोग कर रहे हैं. हम हितेशा चंद्राणी के मेडिकल खर्च और डिलीवरी बॉय कामराज को कानूनी मदद दे रहे हैं. उसने 26 महीने में 5 हजार डिलीवरी की हैं. उसकी रेटिंग 5 में 4.75 है, जिसे बेहतरीन कहा जा सकता है. 

 

डिलीवरी बॉय ने खुद को बताया निर्दोष

इससे पहले आरोपी डिलीवरी बॉय कामराज ने एक न्यूज वेबसाइट से बात करते हुए दावा किया था, 'जाम के कारण डिलीवरी में देरी हो गई थी. मैंने इसके लिए उनसे माफी मांगी लेकिन वो (हितेशा चंद्राणी) मुझसे लगातार झगड़ा करती रहीं. इसके बाद उन्होंने पैसे देने से इनकार कर दिया तो कंपनी ने पॉलिसी के मुताबिक खाना वापस लाने के लिए कहा. लेकिन हितेशा ने फूड पैकेट भी वापस नहीं किया. पैकेट वापस मांगने पर उसे चप्पल से मारने की कोशिश की गई. जब उसने खुद को बचाने की कोशिश की तो लड़की का हाथ खुद ही उसके मुंह पर लग गया और हाथ में पहनी रिंग से उसे चोट लग गई.'

अरेस्ट हो चुका है डिलीवरी बॉय

बेंगलुरु पुलिस जोमैटो (Zomato) के डिलिवरी बॉय कामराज को गिरफ्तार कर चुकी है, जिसने ऑर्डर लेने से इनकार करने पर हितेशा चंद्राणी नाम की एक महिला को जोरदार मुक्‍का जड़ दिया था. बेंगलुरु के डीसीपी (साउथ ईस्‍ट) श्रीनाथ जोशी के मुताबिक, जोमैटो डिलिवरी बॉय को महिला पर कथित तौर पर हमला करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. 

 

महिला ने लगाया बदसलूकी का आरोप

बताते चलें कि सोशल एक्टिविस्ट हितेशा चंद्राणी (Hitesha Chandranee) ने गुरुवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया था. इस वीडियो में उन्‍होंने बताया था कि कैसे ऑर्डर लेने से मना करने पर जोमैटो डिलिवरी बॉय ने उन पर हमला कर दिया. इस वीडियो के सामने आने के बाद फूड डिलिवरी स्‍टार्ट-अप जोमैटो ने भी हितेशा से माफी मांगी थी. साथ ही डिलीवरी बॉय कामराज को काम से हटा दिया था. 

9 मार्च को जोमैटो पर किया था ऑर्डर

हितेशा चंद्राणी (Hitesha Chandranee) ने बताया कि उन्होंने 9 मार्च को शाम 3.30 बजे ऑर्डर प्लेस किया था लेकिन उन्हें ये ऑर्डर 4.30 बजे शाम को मिला. ऑर्डर टाइम पर नहीं मिला इसलिए उन्होंने कस्टमर सपोर्ट को फोन लगाया और उनसे कहा कि या तो पैसे वापस करें या ऑर्डर को पूरी तरह से कैंसिल कर दें. हितेशा ने कहा कि जब उन्होंने डिलिवरी बॉय से ये कहा कि ऑर्डर को कैंसिल करना है या कॉम्प्लीमेंट्री करना है और वह इसके कंफर्मेशन का इंतजार कर रही हैं, तो डिलिवरी बॉय उन पर चिल्लाने लगा और ऑर्डर को वापस ले जाने से मना कर दिया. 

'मारने के बाद फूड पैकेट लेकर भाग गया'

हितेशा चंद्राणी (Hitesha Chandranee) ने वीडियो में बताया कि डिलिवरी बॉय को जब उन्होंने इंतजार करने के लिए कहा तो वह काफी अग्रेसिव हो गया और गुस्से में जोर जोर से उन पर चिल्लाने लगा. इसके बाद डिलीवरी बॉय ने उन पर पंच मार दिया, जिससे उनकी नाक पर चोट आ गई. इसके बाद वह ऑर्डर लेकर भाग गया. इंस्टाग्राम वीडियो में चंद्राणी ने बताया कि वह चिल्लाईं लेकिन उनके पड़ोसी मदद के लिए नहीं आए. इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपी डिलीवरी बॉय के खिलाफ केस दर्ज कर लिया.  

ये भी पढ़ें- लड़की को मुक्का मारने के आरोपी Zomato डिलिवरी बॉय ने दी सफाई, बताई उस दिन की पूरी कहानी

डिलीवरी बॉय पर एक्शन लेने पर उठे थे सवाल

डिलीवरी बॉय कामराज का न्यूज वेबसाइट में इंटरव्यू आने के बाद जोमैटो कंपनी पर इस बात को लेकर सवाल उठ रहे थे कि उसने बिना दूसरा पक्ष जाने इकतरफा एक्शन ले लिया. इसके बाद जोमैटो (Zomato) कंपनी और उसके फाउंडर दीपिंदर गोयल को ट्वीट कर अपना पक्ष स्पष्ट करना पड़ा है. 

VIDEO

Trending news