Advertisement

Science News

alt
Gravity and Mass Relationship: विज्ञान कहता है कि गुरुत्वाकर्षण और द्रव्यमान का रिश्ता चोली-दामन जैसा है. बिना द्रव्यमान के गुरुत्वाकर्षण का अस्तित्व नहीं हो सकता! किताबों में हम यही पढ़ते आए हैं. महानतम वैज्ञानिकों में शुमार सर आइजैक न्यूटन (Isaac Newton) और अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) ने गुरुत्वाकर्षण और द्रव्यमान पर आधारित महत्वपूर्ण सिद्धांत दिए हैं. अब एक वैज्ञानिक ने उन सिद्धांतों को ही चुनौती दे डाली है. इनमें आइंस्टीन का 109 साल पुराना सामान्य सापेक्षता सिद्धांत (General Theory of Relativity) भी शामिल है. हंट्सविले में अलबामा विश्वविद्यालय के खगोल वैज्ञानिक रिचर्ड लियू का कहना है कि गुरुत्वाकर्षण का अस्तित्व बिना द्रव्यमान के भी हो सकता है. लियू की स्टडी सीधे तौर पर डार्क मैटर जैसी रहस्यमय चीज को खारिज करती है.
Jun 15,2024, 0:16 AM IST
alt
Quantum Science and Technology: अपनी आंखों से देखी सबसे छोटी चीज को याद कीजिए. अब कल्पना कीजिए कि उस सबसे छोटी चीज के भीतर इतनी बड़ी दुनिया है जिसके बारे में आप जानते तक नहीं. क्वांटम साइंस हमें उसी दुनिया से रूबरू कराती है. यह फिजिक्स के मूलभूत सिद्धांतों में से एक है. वैज्ञानिक क्वांटम थ्योरी की मदद से परमाणु और उससे छोटी वस्तुओं के व्यवहार को समझा पाते हैं. हमारे आसपास की दुनिया जिन मूल कणों से बनी है, क्वांटम साइंस हमें उनके राज बताती है. आज क्वांटम साइंस ब्रह्मांड के रहस्य सुलझाने में मददगार साबित हो रही है. संयुक्त राष्‍ट्र ने भी क्वाइंम साइंस एंड टेक्नोलॉजी के महत्व को स्वीकारा है. 2025 को 'क्वाइंम साइंस एंड टेक्नोलॉजी के वर्ष' के रूप में मनाया जाएगा.
Jun 12,2024, 17:03 PM IST
alt
Euclid Space Telescope Images: यूरोप के यूक्लिड स्पेस टेलीस्कोप ने कुछ शानदार तस्वीरें खींची हैं. इनमें चमचमाती आकाशगंगाएं, तारों की नर्सरी और हमारी मिल्की वे जैसी एक आकाशगंगा नजर आ रही है. पिछले साल लॉन्च किए गए यूक्लिड मिशन का मकसद डार्क एनर्जी और डार्क मैटर के रहस्यों की जांच करना है. यह यूक्लिड मिशन की तस्वीरों का दूसरा सेट है जिसे यूरोपियन स्पेस एजेंसी (ESA) ने जारी किया है. जो पांच नई तस्वीरें जारी हुई हैं, उन्हें यूक्लिड ने सिर्फ एक दिन में खींचा है. यूक्लिड मिशन कुल छह साल चलेगा. ESA ने पहली बार यूक्लिड का साइंटिफिक डेटा भी जारी किया है. आने वाले सालों में वैज्ञानिक इस डेटा की मदद से सभी तरह के 'निष्कासित' ग्रहों या 'दुष्ट' ग्रहों का पता लगाने की कोशिश करेंगे. ये ऐसे ग्रह होते हैं जो किसी तारे से नहीं जुड़े होते और मुक्त अवस्था में घूमते रहते हैं. यूक्लिड की तस्वीरों का पहला बैच पिछले साल नवंबर में  जारी किया गया था. तस्वीरों में आप भी देखिए, ब्रह्मांड के कुछ शानदार नजारे. (Photos Credit: ESA/Euclid/Euclid Consortium/NASA)
May 24,2024, 15:28 PM IST
alt
Brain Eating Amoeba Naegleria fowleri: केरल में एक दुर्लभ संक्रमण ने पांच साल की बच्ची की जान ले ली. उसका primary amoebic meningoencephalitis (PAM) के लिए इलाज चल रहा था. यह नेगलेरिया फाउलेरी (Naegleria fowleri) यानी 'दिमाग खाने वाले अमीबा' से होने वाला दुर्लभ संक्रमण है. इस संक्रमण ने पहले भी कई लोगों की जान ली है. दिमाग खाने वाले यह अमीबा सभी महाद्वीपों में मिल चुका है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह भारत समेत 16 से ज्यादा देशों में PAM की वजह घोषित हुआ है. अमेरिकन सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (CDC) के अनुसार, Naegleria fowleri गर्म पानी वाली जगहों पर तेजी से फैलता है. यह नाक के जरिए इंसानी शरीर में दाखिल होता है और फिर दिमाग तक पहुंचता है. धीरे-धीरे यह दिमाग को खत्म करता रहता है और आखिर में व्यक्ति की मौत हो जाती है. 'दिमाग को खाने वाले अमीबा' Naegleria fowleri की पूरी कुंडली आगे जानिए.
May 22,2024, 14:32 PM IST
Read More

Trending news