पटना: शराबबंदी में ढिलाई बरतने पर 41 अफसरों पर गिरी गाज, 10 साल तक नहीं मिलेगा प्रमोशन

पुलिस हेडक्वार्टर की तरफ से 41 पुलिस अधिकारियों की सूची जारी की गई है. ये उन पुलिसकर्मियों की सूची है जो शराबबंदी लागू होने के बाद भी अपने क्षेत्र में इसे क्रियान्वित करने में असफल रहे हैं. 

पटना: शराबबंदी में ढिलाई बरतने पर 41 अफसरों पर गिरी गाज, 10 साल तक नहीं मिलेगा प्रमोशन
अधिकारियों पर शराब तस्करों से मिलीभगत की लगातार शिकायत मिल रही थी.

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई बार कह चुके हैं कि वो शराबबंदी को लेकर गंभीर हैं. नीतीश कुमार के बार-बार चेतावनी देने के बाद भी कई पुलिस अधिकारी शराबबंदी बंद कराने में असफल हुए और इसका नतीजा ये निकला कि अब 41 पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है. 

पुलिस हेडक्वार्टर की तरफ से 41 पुलिस अधिकारियों की सूची जारी की गई है. ये उन पुलिसकर्मियों की सूची है जो शराबबंदी लागू होने के बाद भी अपने क्षेत्र में इसे क्रियान्वित करने में असफल रहे हैं. 

इन पुलिसकर्मियों को दस साल तक किसी भी थाने में पोस्टिंग नहीं मिलेगी. ये पुलिसकर्मी अगले 10 साल तक ना तो थानाध्यक्ष प्रभारी बनाए जाएंगे और ना ही प्रभारी. इन अधिकारियों पर शराब तस्करों से मिलीभगत की लगातार शिकायत मिल रही थी. 

पुलिस मुख्यालय की ओर से की गई इस कार्रवाई से पुलिस महकमे में हलचल मची हुई है. इस सूची में पटना, कटिहार, मुजफ्फरपुर सहित 16 जिलों में तैनात पुलिसकर्मी हैं. आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने कई बार कहा था कि कई इलाकों में पुलिस की मिलीभगत से अवैध शराब उत्पादन और बिक्री की जा रही है. नीतीश कुमार ने कई मीटिंग में चेतावनी भी दी थी.