close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गयाः पिता ने अपने दोस्तों के साथ रची थी बेटी की हत्या की साजिश

बिहार के गया जिले में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है.

गयाः पिता ने अपने दोस्तों के साथ रची थी बेटी की हत्या की साजिश
गया में पिता ने बेटी की हत्या की साजिश रची थी. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयकुमार/गयाः बिहार के गया जिले में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है. गया के मानपुर प्रखंड में एक सिर कटी बच्ची की लाश मिली थी. जिसके बाद पुलिस मामले की जांच कर रही थी. वहीं अब खुलासा किया गया है कि पिता ने ही बेटी की हत्या की साजिश रची थी. पुलिस इस मामले में मां-बाप और पिता के दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

गया के मानपुर प्रखंड के बुनियादगंज थाना के जोड़ा मस्जिद बक्सरिया टोला में एक लड़की की सर कटी लाश बरामद की गई थी. लाश मिलने के बाद इलाके में सनसनी मच गई थी. जिस जगह से लड़की की शरीर बरामद हुई थी, वहां से 5 मीटर की दूरी पर उसका सिर बरामद किया गया था. वहीं, सिर को जलाने और पहचान छुपाने की भी कोशिश की गई थी.

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जब मामले की जांच की तो उसकी पहचान बुनियादगंज थाना के पेहानी निवासी तुराज प्रसाद की बेटी अंजना के रूप में की गई. बताया जाता है कि वह 28 दिसंबर से ही लापता था. साथ ही परिवार वालों ने अंजना की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में लिखवाई थी. वहीं, यह भी बताया जा रहा है कि परिवारवाले अपहरण की रिपोर्ट लिखवाना नहीं चाहते थे.

बताया जाता है कि पुलिस ने 4 जनवरी को अपरहरण का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की. जांच में पता चला कि वह सीतादाहू के कारखाने में काम करती थी. और 28 दिसंबर को गायब होने से पहले उसने पेहानी पार्क के समीप सामान की खरीदारी करने गई थी.

वहीं, पुलिस की पूछताछ में मृतिका की बहन और मां ने बताया कि वह 28 दिसंबर को किसी लड़के के साथ चली गई थी. और वह 31 दिसंबर को घर लौट आई थी. लेकिन उसके पिता ने उसी दिन अपने दोस्त के साथ भेज दिया था. जिसके बाद 6 जनवरी को उसकी सिर कटी लाश बरामद की गई. पुलिस ने बताया था कि लड़की हत्या 4 दिन पहले ही कर दी गई थी. और शव को वहां फेंक दिया गया था.

ज्ञात हो की विभिन्न समाजिक संगठनों के दवारा अंजना हत्याकांड में दोषियों को गिरफ्तार करने के लिए भारी संख्या में महिला पुरुषो ने 9 जनवरी को कैंडल मार्च निकाली थी. जिसके बाद पुलिस ने हत्या के मामले में खुलासा किया है.