बिहारः पिता को पेड़ से बांधकर अपराधियों ने युवती के साथ किया गैंगरेप

किशनगंज में छह अपराधियों ने एक युवती के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया है.

बिहारः पिता को पेड़ से बांधकर अपराधियों ने युवती के साथ किया गैंगरेप
किशनगंज में गैंगरेप को अंजाम दिया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

अमित/किशनगंजः बिहार में अपराधियों का तांडव जारी है, पुलिस अपराध को रोकने के लाख दावे कर रहे हैं, लेकिन अपराधी अब प्रदेश में चुनौती बन गए हैं. बिहार में रेप और छेड़छाड़ की घटना तेजी से बढ़ रही है. ताजा मामला किशनगंज का है जहां एक युवती के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया. इतना ही नहीं अपराधियों ने युवती के पिता को बंधक बनाकर घटना को अंजाम दिया है. वहीं, नालंदा में परिजनों के साथ जा रही युवती के साथ छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया गया और इसका वीडियो भी वायरल कर दिया गया.

बिहार में अपराधी बेखौफ होते जा रहे हैं. अब अपराधी घटना को सरेआम अंजाम दे रहे हैं. इसलिए अब पुलिस के लिए बिहार में अपराधी चुनौती बन गए हैं. किशनगंज में अपराधियों ने पिता को बंधक बनाकर उसके सामने ही बेटी के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया गया. वहीं, पुलिस मामले की जांच में जुटी है. और अपराधी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं.

खबरों के मुताबिक दिघलबैंक प्रखंड में अपराधी रात में पानी पीने के बहाने से घर में घुसे. जहां पिता और बेटी को अकेले पाकर दोनों को अगवा कर लिया. बताया जाता है कि घर के बाकी सदस्य कही रिश्तेदार के घर गए थे. इसका फायदा अपराधियों ने उठाया.

अपराधियों ने पिता और बेटी को बांधकर घर से कुछ दूर सुनसान जगह पर ले गए. जहां पिता को पेड़ से बांध दिया और छह की संख्या में बदमाशों ने युवती के साथ बारी-बारी से रेप को अंजाम दिया. जब लड़की की तबीयत बिगड़ी तो अपराधियों ने पिता और बेटी को धमकी देते हुए वहां से फरार हो गए.

बताया जाता है कि पीड़िता की तबीयत इतनी बिगड़ गई की डॉक्टर भी इलाज करने के नाम पर हाथ खड़े कर दिए. वहीं, घटना के बारे में जब ग्रामीणों को पता चला तो दोषियों को गिरफ्तारी की मांग करने लगे. पुलिस ने छह अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किया है. और अपराधियों की खोजबीन शुरू कर दी है.

वहीं, किशनगंज एसपी कुमार आशीष को सूचना मिलते ही मौके पर पहुचकर घटना की जानकारी ली. एसपी ने बताया कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश कोढोबाड़ी थाना अध्यक्ष को दिया गया है. उन्होंने बताया कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध स्प्रिडी ट्रायल चलाया जाएगा, ताकि पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिल सके.