बिहारः सरस्वती पूजा में अलर्ट पर विपक्ष ने कहा- 'अब सत्यनारायण पूजा में भी रहना होगा सावधान'

बिहार में सरस्वती पूजा में एहतियात के लिए सरकार ने प्रदेश में अलर्ट जारी किया है.

बिहारः सरस्वती पूजा में अलर्ट पर विपक्ष ने कहा- 'अब सत्यनारायण पूजा में भी रहना होगा सावधान'
सरस्वती पूजा को लेकर बिहार में अलर्ट जारी किया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

नवजीत/पटनाः बिहार सरकार सरस्वती पूजा को लेकर विशेष अलर्ट जारी किया है. रविवार को सरस्वती पूजा का आयोजन किया जाएगा. यह पूरे प्रदेश में धूम-धाम से मनाया जाता है. लेकिन इस पूजा में कुछ सालों में कई बार हंगामा हो चुका है. इसलिए सरकार ने अलर्ट जारी किया है. वहीं, चुनाव के माहौल में कुछ गड़बड़ी होने की आशंका जताई गई है. जिसके तहत राज्य सरकार ने सभी जिलाधिकारियों और एसपी को अलर्ट पर रखा है. वहीं, विपक्ष ने निशाना साधते हुए कहा कि सत्यनारायण पूजा में भी अब अलर्ट लग सकता है.

सरकार को आशंका है कि सरस्वती पूजा के दौरान कुछ गड़बड़ी हो सकती है. चुनावी साल को लेकर बिहार सरकार एहतियात कदम उठा रही है. बिहार में सरस्वती पूजा आयोजन को पहली बार अलर्ट पर रखा गया है. नीतीश कैबिनेट के भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी ने अलर्ट और सरकार की मुस्तैदी पर कहा कि कोई भी पर्व हो नीतीश कुमार विधि व्यवस्था को लेकर सचेत रहते है.

उन्होंने कहा सौहार्दपूर्ण माहौल में पर्व मानने के लिए इस तरह के अलर्ट होते है. चाहे वह अल्पसंख्यक का पर्व हो या फिर बहुसंख्यक का पर्व हो सीएम नीतीश कुमार प्रशासन को अलर्ट रखते है. कुछ पार्टी अल्पसंख्यकों को ठगती रहती है. नीतीश कुमार का विजन सभी समुदायों को साथ रखने का है. उन्होनें कहा कि गलत तत्वों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार हमेशा से मुस्तैद रहती है.

इधर, सरकार के दलील को आरजेडी ने सिरे से खारीज किया है. आरजेडी नेता आलोक मेहता बताते है कि बिहार में लॉ-आर्डर की स्थिति काफी खराब है. उन्होने कहा कि जबसे महागठबंधन की सरकार हटी है तब से यहां कुशासन व्याप्त है. पिछले दो साल के आंकड़े बनाम 15 साल के आंकड़े सरकार जारी करे, सब कुछ स्पष्ट हो जायेगा. पिछले दो साल से बिहार सरकार अपराधियों की गोद मे बैठी है. 

उन्होंने सरस्वती पूरा के अलर्ट पर कहा कि अब तो समय आ गया है कि सत्यनारायण पूजा में बिहार सरकार को अलर्ट करना पड़ेगा. पूरे बिहार में हत्या मर्डर हो रहे है. करोड़ो को लूट हो रही है और इधर, नीतीश कुमार अपना फेस सेविंग के चक्कर मे पड़े है.

वहीं, बीजेपी नेता का कहना है कि माहौल बिगड़ने से पहले अगर एहतियात बरती जाए तो इसमें गलत क्या है. चुनावी माहौल में किस दल की क्या मंशा है कोई नहीं कह सकता है. यह किसी एक दल की बात नहीं कोई भी ऐसे माहौल को खराब कर सकता है. इसलिए एहतियात बरतना जरूरी है.