नीरा को लेकर बिहार सरकार की बड़ी पहल, कुछ इस तरह से आएगी रोजगार की बहार

 राज्य में नीरा उत्पादन और बिक्री को लेकर प्रशासन की ओर से पहल की गई है.  जिसके तहत आधा दर्जन केंद्रों पर नीरा उत्पादन और बिक्री को लेकर जीविका समूह ने कदम आगे बढ़ाया है. 

नीरा को लेकर बिहार सरकार की बड़ी पहल, कुछ इस तरह से आएगी रोजगार की बहार
नीरा से रोजगार देने की तैयारी में है बिहार सरकार (प्रतीकात्मक फोटो)

Muzaffarpur: बिहार सरकार (Bihar Government) ने पूरे राज्य में शराबबंदी कानून लागू कर रखा है. वहीं अब राज्य में नीरा उत्पादन और बिक्री को लेकर प्रशासन की ओर से पहल की गई है.  जिसके तहत आधा दर्जन केंद्रों पर नीरा उत्पादन और बिक्री को लेकर जीविका समूह ने कदम आगे बढ़ाया है. 

इसी के तहत मझौलिया प्रखंड के महनागनी स्थित बुनियादी विद्यालय के पास जीविका नीरा उत्पादक समूह द्वारा नीरा संग्रहण और विक्रय केंद्र का शुभारंभ किया गया. इसका उदघाटन जिला परियोजना प्रबंधक जीविका अविनाश कुमार के किया है. नीरा केंद्र का उदघाटन करते हुए पश्चिम चंपारण ज़िला प्रबंधक अविनाश कुमार ने नीरा से जुड़े उत्पादों पर चर्चा करते हुए कहा कि ये एक प्राकृतिक पेय पदार्थ है. ये मानव स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी भी है क्योंकि इसमें प्रचूर मात्रा में विटामिन और खनिज पाया जाता है, जिससे हमारे शरीर को काफी ज्यादा फायदा होता है. 

ये भी पढ़ें: बेतिया में इंसानियत हुई शर्मसार! 9 साल के मासूम को बाइक से टक्कर मारने के बाद गला दबाकर मारा

बता दें कि, नीरा(ताड़ी) डायबिटीज और एनीमिया के मरीजों के लिए भी काफी लाभकारी है. इसे 50 रुपये प्रति लीटर बेचे जाने की तैयारी चल रही है ताकि गांव के लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिल सके. इसके अलावा इससे गांव की महिलाओं को भी रोजगार दिया जा सकेगा.

(इनपुट: इमरान)