कांग्रेस में हर पोस्ट के लिए पैसे फिक्स, 10 लाख रुपए में बिक रहा कार्यकारी अध्यक्ष का पद
X

कांग्रेस में हर पोस्ट के लिए पैसे फिक्स, 10 लाख रुपए में बिक रहा कार्यकारी अध्यक्ष का पद

शनिवार को प्रभारी भक्त चरण दास और अध्यक्ष मदन मोहन झा के इस्तीफे की मांग को लेकर नाराज कांग्रेसियों ने सदाकत आश्रम में प्रदर्शन किया.

कांग्रेस में हर पोस्ट के लिए पैसे फिक्स, 10 लाख रुपए में बिक रहा कार्यकारी अध्यक्ष का पद

Patna: बिहार कांग्रेस में नया विवाद सामने आ गया है. राज्य कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास पर अब गंभीर आरोप लगाए गए हैं. भक्त चरण दास पर कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के नाम पर दस लाख रुपए लेने का आरोप एक कांग्रेस के नेता ने ही लगाया है. इतना ही नहीं, नई कमेटी में हर पद के लिए पैसा फिक्स करने का भी आरोप प्रभारी पर लगा है, जिसको लेकर शनिवार को सदाकत आश्रम (Sadaqat Ashram) में जमकर प्रदर्शन भी हुआ.

भक्त चरण दास-मदन मोहन झा के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन
दरअसल, बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास (Bhakt Charan Das) ने अभी अपना काम भी ठीक से शुरू नहीं किया है और उनपर गंभीर आरोप लगने शुरू हो गए हैं. बिहार कांग्रेस प्रभारी पर नए संगठन के लिए पैसे लेकर पद देने का आरोप लग गया है. ये आरोप वैशाली जिला किसान कांग्रेस के कोआर्डिनेटर रामचंद्र पासवान ने लगाया है. इसी क्रम में शनिवार को प्रभारी भक्त चरण दास और अध्यक्ष मदन मोहन झा (Madan Mohan Jha) के इस्तीफे की मांग को लेकर नाराज कांग्रेसियों ने सदाकत आश्रम में प्रदर्शन किया.

ये भी पढ़ें-तेजस्वी यादव ने 33 दलों के नेताओं को लिखा पत्र, जाति जनगणना पर मांगा समर्थन

हर पद के लिए पैसे फिक्स
नाराज कांग्रेसियों का आरोप था कि बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास नई कमेटी में पद पैसे लेकर दे रहे हैं. बकायदा सभी पद के लिए रेट भी तय कर दिए गए हैं. जैसे सचिव के लिए 25 हजार, महासचिव के लिए 50 हजार, जिलाध्यक्ष के लिए एक लाख, उपाध्यक्ष पद के लिए 1 लाख रुपए और कार्यकारी अध्यक्ष के लिए 10 लाख रुपए की मांग की जा रही है.

टिकट को लेकर भी पैसे की होती है मांग
सदाकत आश्रम में प्रदर्शन कर रहे राजकुमार शर्मा ने बताया कि चुनाव के वक्त तो टिकट खरीद बिक्री का खेल होता ही है. लेकिन नए प्रभारी ने संगठन के पद को लेकर भी बोली लगा दी है. केंद्रीय नेतृत्व को इसपर संज्ञान लेना चाहिए.

ये भी पढ़ें-जाति जनगणना कराने से केंद्र की 'ना' के बाद मुश्किल में नीतीश! RJD ने NDA छोड़ने की दी चुनौती

'कांग्रेस को बदनाम करने की कोशिश'
हालांकि, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता राजेश राठौड़ की मानें तो सदाकत आश्रम में प्रदर्शन करने वाले लोग कांग्रेसी हैं ही नहीं. प्रदर्शन करने वाले को पार्टी ने काफी पहले निकाल दिया है. उनमें ज्यादातर लोग ऐसे थे जो दूसरे दलों के इशारे पर कांग्रेस को बदनाम करने की कोशिश में लगे हुए हैं. 

ये भी देखे

Trending news