close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में कांग्रेस सीट शेयरिंग को लेकर तैयार कर रही है 'प्लान बी'!

कांग्रेस बिहार में सीट शेयरिंग को लेकर अलग फॉर्मूला तैयार कर रही है.

बिहार में कांग्रेस सीट शेयरिंग को लेकर तैयार कर रही है 'प्लान बी'!
कांग्रेस सीट शेयरिंग को लेकर दिल्ली में बैठक कर रही है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः बिहार महागठबंधन में सीट शेयरिंग का मुद्दा गहराता जा रहा है. महागठबंधन दल के नेताओं में जहां एक ओर इसे लेकर बेचैनी दिख रही है, तो वहीं कुछ नेताओं का कहना है कि सारी बातें हो गई है बस ऐलान बांकी है. लेकिन कांग्रेस ने सीटों को लेकर प्लान बी की तैयारी में जुट गया है.

कांग्रेस के नेताओं की बैठक दिल्ली में की जा रही है. जिसमें सीट शेयरिंग के मुद्दे पर बात की जा रही है. वहीं, बिहार में सीट शेयरिंग को लेकर भी बिहार से कांग्रेस के नेता दिल्ली पहुंचे हुए हैं. यहां प्रदेश अध्यक्ष से लेकर कार्यकारी अध्यक्ष तक मीटिंग कर रहे हैं.

अब ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस बिहार में प्लान बी पर काम कर रही है. प्लान ए में आरजेडी, हम और आरएलएसपी का साथ महागठबंधन बनाने और चुनाव लड़ने की उम्मीद जताई जा रही है. जिस पर काम पहले से चल रहा है. हालांकि पूरी तरह से इस फॉर्मूले पर बात साफ नहीं हो पाई है.

वहीं, कांग्रेस प्लान बी पर काम भी कर रही है जिसमें लेफ्ट पार्टियों को भी महागठबंधन में शामिल करने की तैयारी है.

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा है कि पार्टी चाहती है कि लेफ्ट पार्टियों के भी तमाम घटक उनके महागठबंधन में शामिल हो. ऐसे में जब पूछा गया कि उनके इस काम से आरजेडी को परेशानी हो सकती है तो उन्होंने कहा कि किसको क्या परेशानी होगी यह सवाल नहीं है, बल्कि सवाल यह है कि 2019 का जंग हम कैसे जीतें.

मतलब साफ है कि कांग्रेस सभी दलों के साथ बिहार में महागठबंधन करना चाहती है. जिसके लिए प्लान बी के तहत लेफ्ट पार्टियों को जोड़ने की तैयारी की जा रही है. जबकि आरजेडी उन दलों को साथ लेना नहीं चाहती है जिससे उन्हें नुकसान हो सकता है. वहीं, हम पार्टी द्वारा भी सीटों को लेकर चिंता जताई है. हम प्रमुख जीतनराम मांझी लगातार सम्मानजनक सीट की मांग कर रही है. क्यों कि उन्हें पता है कि अगर महागठबंधन में सभी दल एक साथ होंगे तो उन्हें अधिक सीटें नहीं मिलेंगी.