बिहार: रविवार को है दारोगा बहाली की परीक्षा, 36 जिलों में तय समय पर होगा एग्जाम

रविवार को बिहार में दारोगा बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा होने जा रही है. पूरे बिहार में 495 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में 5 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड जारी किया गया है. लेकिन लगातार हो रहे बंद और प्रदर्शन के कारण अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ गई है. इसी बीच परीक्षा को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है.

बिहार: रविवार को है दारोगा बहाली की परीक्षा, 36 जिलों में तय समय पर होगा एग्जाम
लगातार हो रहे बंद और प्रदर्शन के कारण अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ गई है.

पटना: रविवार को बिहार में दारोगा बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा होने जा रही है. पूरे बिहार में 495 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में 5 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड जारी किया गया है. लेकिन लगातार हो रहे बंद और प्रदर्शन के कारण अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ गई है. इसी बीच परीक्षा को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है.

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग यानि बीपीएसएससी कल दारोगा बहाली की लिखित परीक्षा लेने जा रहा है. 22 दिसंबर को आय़ोजित परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया गया है .हालांकि उम्मीदवारों के लिए राहत की बात ये है कि परीक्षा उनके गृह जिले में ही ली जा रही है. लेकिन कभी नागरिकता संशोधन कानून और कभी एनआरसी के खिलाफ चल रहे आंदोलन की वजह से आवागमन एक तरह से ठप हो चुका है. 

इस वजह से परीक्षा होगी या नहीं इसको लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं. हालांकि बीपीएसएससी के विशेष कार्य पदाधिकारी अशोक प्रसाद ने जी मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि, कहा है कि तैयारियां पूरी हो गई हैं और होम सेंटर में ही परीक्षा ली जा रही है. समय पर परीक्षा होगी. हालांकि दारोगा अभ्यर्थी लगातार हो रहे आंदोलन से चिंतित नजर आ रहे हैं.

दूसरी ओर दारोगा प्रारंभिक लिखित परीक्षा को लेकर परीक्षा केन्द्रों पर जैमर लगाया जा रहा है. पटना के कॉलेज ऑफ कॉमर्स में परीक्षा की तैयारियां अंतिम चरण में हैं. कॉलेज ऑफ कॉमर्स के परीक्षा नियंत्रक के एन यादव के मुताबिक,अभी तक कोई निर्देश परीक्षा रद्द करने के लिए नहीं मिला है. सभी परीक्षा केन्द्रों पर जैमर, सीसीटीवी के साथ दूसरी चीजें लगाई गई हैं. पर्याप्त संख्या में पुलिसबल भी लगाए जाएंगे. कॉलेज ऑफ कॉमर्स में परीक्षा में 5 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे. वैसे पूरे बिहार में दो शिफ्टों में 5 लाख 80 हजार अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड बीपीएसएससी ने जारी किया है.

राजनीति और लगातार प्रदर्शन से सबसे अधिक नुकसान सामान्य लोगों को ही होता है. जिस तरह से हिंसा की खबरें हैं उससे बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के सामने सबसे बड़ी चुनौती दारोगा बहाली परीक्षा लेने की है. क्योंकि परीक्षा बिहार के 36 जिलों में होने जा रही है.