Jharkhand Election Results: सुबह 11 बजे तक के रुझानों में JMM गठबंधन को स्पष्ट बहुमत

2014 विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की थी. वहीं आजसू ने 5 सीटों पर जीत हासिल की थी. जेएमएम 19 और कांग्रेस के हिस्से 6 सीटें आई थी.

Jharkhand Election Results: सुबह 11 बजे तक के रुझानों में JMM गठबंधन को स्पष्ट बहुमत
फाइल फोटो

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 (Jharkhand Assembly Elections 2019) के रुझानों ने बीजेपी को बड़ा झटका दिया है. सुबह 8 बजे शुरू हुई मतगणना के आंकडो़ं ने राज्य में कांग्रेस गठबंधन की सराकर का रास्ता साफ कर दिया है.सुबह 11 बजे तक के रुझानों के मुताबिक कांग्रेस गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलता दिख रहा है. चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक कांग्रेस 13, झारखंड मुक्ति मोर्चा 25 और राष्ट्रीय जनता दल 5 सीटों पर आगे चल रही है. इसका मतलब कांग्रेस गठबंधन 43 सीटों पर आगे हैं.

झारखंड विधानसभा में बहुमत के लिए 41 सीटों की आवश्यकता है.

बता दें कि सुबह 8 बजे से राज्य के 24 जिला मुख्यालय में मतों की गणना जारी है. शुरुआती आंकड़ों की बात करें तो रुझानों में कांग्रेस गठबंधन को बहुमत मिलता दिख रहा था. रुझानों में कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा और राष्ट्रीय जनता दल गठबंधन की बढ़त 41 सीटों तक पहुंच गई थी. और विधानसभा चुनावों में अकेले मैदान में उतरने वाली बीजेपी काफी पीछे लग रही थी.

जब बीजेपी हो गई थी कांग्रेस से आगे
सुबह 9 बजते बजते आंकड़ों में जबरदस्त फेरबदल देखने को मिला था. अचानक से रुझान बदलने लगे और कांग्रेस गठबंधन की सीटें कम होती चली गईं. कांग्रेस गठबंधन की कम होती सीटों का फायदा सुदेश महतो की आजसू और बीजेपी के मिलता दिखा था. जो आजसू शुरुआत में केवल 2 सीटों पर आगे चल रही थी वह अचानक से 8 सीटों पर आगे हो गई वहीं जो बीजेपी 22 सीटों पर आगे थी वह अचानक से 35 सीटों पर पहुंच गई. कांग्रेस गठबंधन की सीटें 41 से 33 पर आ गईं थी. वहीं पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा भी 0 से 3 सीटों पर आगे हो गई थीं.

यह भी पढ़ें- Jharkhand Election Results 2019 LIVE: कांग्रेस गठबंधन और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर

ऐसे में कई तरह के समीकरण उभरकर सामने आने लगे थे. सुबह से जहां एक तरफ लग रहा था कि राज्य में इस बार रघुबर दास सरकार जाती दिख रही है और हेमंत सोरेने को जनता समर्थन मिल गया हैं, 9 बजे के बाद तरफ अचानक से बदले समीकरणों ने बीजेपी की सत्ता में वापसी का द्वार मानों खोल दिया हो. पिछली बार बीजेपी ने आजसू के साथ मिलकर सरकार बनाई थी. लेकिन इस बार सीटों के बंटवारें को लेकर पेंच फंस गया था. इसलिए आजसू और बीजेपी ने अलग अलग चुनाव लड़ा था. 

यह भी पढ़ें-आजसू के पास सत्‍ता की चाबी? BJP ने सुदेश महतो से साधा संपर्क- सूत्र

ऐसे में यदि इस बार भी किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिलता है. तो ऐसे में पिछली बार की तरह इस बार भी बीजेपी और आजसू में गठबंधन हो सकता है. हालांकि अभी तक बीजेपी ने आजसू के साथ जाने का कोई ऐलान नहीं किया. 

सुबह करीब साढ़े 9 बजे तक के रुझानों की बात करें तो 81 सीटों में से बीजेपी 35 और कांग्रेस गठबंधन 33 सीटों पर आगे हैं. वहीं आजसू 8 और जेवीएम 2 सीटों पर आगे है, निर्दलीय 2 सीटों पर आगे हैं. ऐसे में एक समय ऐसा लग रहा था कि राज्य में एक बार फिर बीजेपी आजसू की सरकार बनने जा रही है.