कोडरमा: पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, शराब बनाने की मिनी फैक्ट्री का किया पर्दाफाश

इस मामले में पुलिस और उत्पाद विभाग की छापेमारी में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है लेकिन फैक्ट्री चलाने वाले तीन संचालकों की पहचान कर ली गई है.

कोडरमा: पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, शराब बनाने की मिनी फैक्ट्री का किया पर्दाफाश
सूचना की पुष्टि होने के बाद बड़ी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती के बीच छापेमारी की गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कोडरमा: झारखंड के कोडरमा पुलिस और उत्पाद विभाग की संयुक्त छापेमारी में एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. कोडरमा पुलिस ने शराब बनाने की मिनी फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है और भारी मात्रा में शराब बनाने के उपकरण के साथ साथ शराब तैयार करने से लेकर उसकी पैकेजिंग की जाने वाली एक हाई क्वालिटी ऑटोमेटिक मशीन जब्त की है.

इसके साथ ही 200 लीटर स्प्रिट भी बरामद किया गया है. हालांकि इस मामले में पुलिस और उत्पाद विभाग की छापेमारी में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है लेकिन फैक्ट्री चलाने वाले तीन संचालकों की पहचान कर ली गई है और उनके खिलाफ नामजद मामला दर्ज कर लिया गया है.

शराब फैक्ट्री का संचालन कोडरमा के चंदवारा थाना क्षेत्र के बेंदी के सुदूरवर्ती जंगलों के बीच किया जा रहा था और पिछले तीन-चार दिनों से लगातार पुलिस और उत्पाद विभाग को यह सूचना मिल रही थी. सूचना की पुष्टि होने के बाद बड़ी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती के बीच छापेमारी की गई और शराब फैक्ट्री से सभी सामान बरामद कर लिए गए. 

शराब बनाने और पैकेजिंग मशीन की कीमत लाखों की आंकी जा रही है. मामले की जानकारी देते हुए एसपी एम.तमिल वानन ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई है और जिन नामजद संचालको के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है. 

वही, उत्पाद अधीक्षक अजय कुमार गौड़ ने बताया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शराब मिनी फैक्ट्री का उद्भेदन एक बड़ी कामयाबी है और लगातार अवैध शराब के विरुद्ध उत्पाद विभाग और कोडरमा पुलिस का अभियान जारी रहेगा.