बंगाल की हिंसा का झारखंड में विरोध, दीपक प्रकाश बोले- ममता की संरक्षण में TMC के गुंडे कर रहे हैं हत्या

Jharkhand News: पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता झारखंड में मंडल स्तर पर विरोध प्रदर्शन कर रही है.  

बंगाल की हिंसा का झारखंड में विरोध, दीपक प्रकाश बोले- ममता की संरक्षण में TMC के गुंडे कर रहे हैं हत्या
बंगाल की हिंसा के खिलाफ झारखंड में प्रदर्शन (फाइल फोटो)

Ranchi: पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (TMC) को बड़ी जीत मिली है. राज्य के 294 विधानसभा सीटों में से टीएमसी के पास 213 सीटें मिली है. लेकिन, परिणाम आते ही राज्य में हिंसक झड़प की खबरें कई जगहों से आने लगी.

टीएमसी कार्यकर्ताओं ने जोश में होश खोते हुए भाजपा के कार्यालय में न सिर्फ तोड़फोड़ की बल्कि आग के हवाले भी कर दिया. इसके अलावा, कई जगहों पर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की बात सामने आई. यही वजह है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता झारखंड में मंडल स्तर पर विरोध प्रदर्शन कर रही है.

झारखंड में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा बंगाल में हो रहे राजनीतिक हमले पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद जिस तरीके से राजनीतिक हत्याओं का सिलसिला टीएमसी के गुंडों के द्वारा ममता बनर्जी के संरक्षण में हो रहा है, वह बेहद चिंतनीय है. 

ये भी पढ़ें- जब नाराज शहाबुद्दीन को मनाने सीवान पहुंचे थे लालू यादव

दीपक प्रकाश ने टीएमसी के लोगों पर बीजेपी के 17 कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि  सैंकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं को इस मारपीट में घायल किया गया है.
झारखंड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि टीएमसी का जो रवैया है, इसके विरोध में कार्यक्रम की श्रृंखला खड़ा किया गया है. पश्चिम बंगाल में प्रशासन मूकदर्शक है, टीएमसी के गुंडों को लोकतंत्र और शांति में कोई आस्था नहीं है.

गौरतलब है कि चुनाव परिणाम के ही दिन से कई ऐसे वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे, जिसको साझा करते हुए लोग दावा कर रहे थे कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की है. इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए तुरंत बंगाल का दौरा करने का फैसला किया. राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की.