बिहारः कांग्रेस के सभी दावों की RJD ने निकाली हवा, सीट शेयरिंग पर दिया यह जवाब...

कांग्रेस और जीतनराम मांझी के सीटों के दावों की आरजेडी ने हवा निकाल दी है.

बिहारः कांग्रेस के सभी दावों की RJD ने निकाली हवा, सीट शेयरिंग पर दिया यह जवाब...
आरजेडी ने सीट शेयरिंग को लेकर जवाब दिया है.

पटनाः महागठबंधन में सीट शेयरिंग का मामला सुलझने की बजाय उलझता ही जा रहा है. एक तरफ जीतन राम मांझी महागठबंधन में कांग्रेस से ज्यादा सीट मांग रहे हैं. तो वहीं कांग्रेस के विधायक ने 19 सीटों पर दावेदारी ठोंक दी है. हालांकि आरजेडी ने ये कहकर दोनों दलों के दावों की हवा निकाल दी है कि, अभी सीट शेयरिंग हुई नहीं तो दावेदारी किस बात की कर रहे हैं.

महागठबंधन में सीट शेयरिंग टेढ़ी खीर बनती जा रही है. दलों के बीच ज्यादा सीट डिमांड को लेकर दबाव की राजनीति चरम पर है. जीतनराम मांझी ने ज्यादा सीट की डिमांड को लेकर बिहार में खुद की पार्टी को कांग्रेस से बड़ी पार्टी बता दिया है. वहीं, कांग्रेस के विधायक महागठबंधन में अब 19 सीट की डिमांड कर रहे हैं. 

कांग्रेस विधायक संजय तिवारी ने कहा है कि जनआकांक्षा रैली के बाद कांग्रेस से नेताओं के जुडने का सिलसिला जिस तरह से बढ रहा है कांग्रेस को ज्यादा सीटें चाहिए. कांग्रेस से कीर्ती झा आजाद , अनंत सिंह जैसे नेता जुड रहे हैं. दूसरे दलों के कई और नेता कांग्रेस में आना चाहते हैं ऐसे में कांग्रेस को 19 सीटें मिलनी चाहिए. वहीं कांग्रेस नेता सदानंद सिंह ने कहा है कि सीट शेयरिंग पर बातचीत अभी फायनल नहीं हुई है लेकिन इतना तय है कि कांग्रेस को सम्मानजनक सीटें मिलेंगी.  

इधर कांग्रेस के दावों के बीच अनंत सिंह ने कांग्रेस की ओर से मुंगेर लोकसभा सीट के लिए टिकट मिल जाने का दावा कर सहयोगी दलों में हलचल मचा दी है. वहीं, कांग्रेस नेताओं के दावों की हवा आरजेडी नेता अब्दुलबारी सिद्दिकी ने निकाल दी है. अब्दुलबारी सिद्दिकी ने कहा है कि अभी तक सीट शेयरिंग हुआ ही नहीं है तो सीट पर दावा कैसा. आरजेडी नेता विजय प्रकाश ने भी अनंत सिंह की ओर से मुंगेर से टिकट मिल जाने पर हमला बोला है. विजय प्रकाश ने कहा है कि अभी सीट शेयरिंग हुआ नहीं उसके बीच टिकट मिलने के दावे महज मीडिया में जगह बनाने के लिए ही हैं. मुंगेर की जनता अपराधी चरित्र के नेताओं को तरजीह नहीं देगी.  

महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर फंसी पेंच के बीच जेडीयू नेता पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी ने बड़ा बयान दिया है. अशोक चौधरी ने कहा है कि कांग्रेस को लेकर लालू प्रसाद की न नियत साफ है और न ही नीति गठबंधन के सहारे लालू खुद मजबूत होना चाहते हैं. लेकिन गठबंधन दलों को मजबूत नहीं होने देना चाहते. कांग्रेस के लिए नीतीश कुमार की नीयत और लालू प्रसाद की नीयत को मैंने काफी करीब से देखा है.  क्योंकि, 2015 विधानसभा चुनाव में लालू प्रसाद से 40 सीटें लेने में मुझे कितनी मशक्कत करनी पड़ी थीं.