close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: जमीन विवाद में युवक ने पिता को गोलियों से भूना, न्याय के लिए दर-दर भटक रहे परिजन

आरोप है कि विद्याभूषन ने अपने सौतेले मामा रविशंकर को 18 अगस्त 2017 को घुमाने के बहाने साथ ले जाकर मौत के घाट उतार दिया.

बिहार: जमीन विवाद में युवक ने पिता को गोलियों से भूना, न्याय के लिए दर-दर भटक रहे परिजन
विद्याभूषण पर है रविशंकर की हत्या का आरोप. (फाइल फोटो)

पटना : एक युवक पर जमीन विवाद में अपने सौतेले मामा की हत्या (Murder) कर शव को ठिकाने लगाने का आरोप था. पुलिस (Bihar Police) ने उसे गिरफ्तार भी किया था. छह महीने बाद वह जेल से छूटा. मौका पाकर आरोपी ने अपने पिता की भी गोली मारकर हत्या कर दी. पूरा मामला कदमकुआं थाना क्षेत्र के राजेंद्र नगर इलाके का है. सीतामढ़ी (Sitamarhi) निवासी छात्र रविशंकर पटना में रहकर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहा था. पूर्व से चल रहे पारिवारिक विवाद को लेकर उसपर दो लोगों की हत्या का आरोप है.

आरोप है कि विद्याभूषन ने अपने सौतेले मामा रविशंकर को 18 अगस्त 2017 को घुमाने के बहाने साथ ले जाकर मौत के घाट उतार दिया. रविशंकर के घर नहीं पहुंचने पर पीड़ित परिजनों ने कदमकुआं थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया. इसके बाद मोबाइल लोकेशन और अन्य साक्ष्य के आधार पर आरोपी विद्याभूषन को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

रविशंकर के भाई विवेक ने बताया कि पुलिस की लापरवाही से छोटे भाई को दो साल में ढूंढ नहीं सकी और आरोपी विद्याभूषन भी छह माह में ही जेल से छूट गया. उन्होंने कहा कि आरोपी जेल से छूटने के बाद अब मेरे पिता के साथ सभी को जान से मार देने का धमकी दे रहा है. इस डर से हम बिहार छोड़ दिए हैं, लेकिन पुलिस की करवाई अभी भी ढाक के तीन पात ही है.

विवेक का कहना है कि आरोपी विद्याभूषन जेल से छूटकर आने के बाद 30 मार्च 2019 को अपने पिता हरिशंकर की गोली मारकर हत्या कर दी. जो कि पूर्णिया में सरकारी कर्मचारी थे. इस बाबत हरिशंकर की दूसरी पत्नी ने आरोपी बेटे के खिलाफ पूर्णिया में मामला दर्ज कराया, लेकिन पुलिस अबतक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पीड़ित परिवार न्याय के लिए दर-दर भटक रहा है. यहां तक कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, डीजीपी, आईजी, डीआईजी से लोकर एसएसपी कार्यालय तक चक्कर लगाया, लेकिन कोई कर्रवाई नहीं हुई है.

वहीं, पटना के सिटी एसपी (मध्य) ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है, क्योंकि अभी हमारी नई पोस्टिंग हुई है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएसपी के नेतृत्व में तीन इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारियों टीम गठित की गई है. पूरे मामले का जल्द उद्भेदन कर लिया जाएगा.