लखीसराय: धर्म परिवर्तन की धमकी के बाद निलंबित बीडीओ ने लिखा सचिव को पत्र, आरोपों का दिया दवाब

उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि एक ही सिरीयल क्रमांक का अलग-अलग स्टांप पेपर का उपयोग किया गया है.

लखीसराय: धर्म परिवर्तन की धमकी के बाद निलंबित बीडीओ ने लिखा सचिव को पत्र, आरोपों का दिया दवाब
मनोज कुमार अग्रवाल ने ग्रामीण विकास विभाग के सचिव को फिर से पत्र लिखा है.

लखीसराय: बिहार जिले के लखीसराय के रामगढ़ चौक प्रखंड के निलंबित बीडीओ मनोज कुमार अग्रवाल ने ग्रामीण विकास विभाग के सचिव को फिर से पत्र लिखकर अपने ऊपर लगे आरोपों को निरस्त करने की मांग की है.

निलंबित बीडीओ मनोज अग्रवाल ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों के बिंदुवार जवाब देते हुए विभाग को लिखा है कि उनके विरुद्ध जिन लोगों ने भी शिकायत की है वो 100 फीसदी असत्य व मनगढ़ंत है.

उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि एक ही सिरीयल क्रमांक का अलग-अलग स्टांप पेपर का उपयोग किया गया है. इससे प्रतीत होता है कि सामूहिक रूप से एक ही व्यक्ति के द्वारा साजिश के तहत कार्य किया गया है.

उन्होंने जिले के उपविकास आयुक्त पर बिना स्थलीय जांच किए राजनीति व्यक्तियों के मेल में आकर झूठे व मनगढ़ंत रिपोर्ट डीएम को सौंपने की बात कही है. बीडीओ ने इस संबंध में जिले के डीएम एवं ग्रामीण विकास मंत्री को भी इससे संबंधित पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग किया है.

 बीडीओ के धर्म परिवर्तन की चेतावनी पर आरजेडी नेता विजय प्रकाश ने कहा है कि बीडीओ जो चैलेंज कर रहे हैं वो लगातार चलता रहा है. मंत्री और जेडीयू नेताओं की दलाली जो अधिकारी नहीं करते हैं उनपर इस तरह के आरोप और कार्रवाई होते रहते हैं. धन उगाही नहीं करने वाले अधिकारी फसंते हैं. 

वहीं, जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा है कि विभागीय अधिकारी,न्यायपालिका पर से विश्वास उठ गया तो क्या कहना? देश स्वतंत्र है,बाबा भीम राव अम्बेदकर ने संविधान ऐसा बनाया हैं कि जिस धर्म मे विश्वास है वो धर्म अपना सकते हैं. बीडीओ को लगता है कि वो निर्दोष हैं तो वो न्यायालय जाएं. अब देखने वाली बात ये होगी कि आगे इस मामले में बीडीओ क्या कदम उठाते हैं और क्या कार्रवाई की जाती है.