close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शारदा चिटफंड घोटाला: राजीव कुमार की मिली लोकेशन, गिरफ्तार कर सकती है CBI

सीबीआई IPS ऑफिसर्स मेस में पहुंची और वहां के पहरेदार, कर्मचारियों से पूछताछ की और कई कमरों की तलाशी ली.

शारदा चिटफंड घोटाला: राजीव कुमार की मिली लोकेशन, गिरफ्तार कर सकती है CBI
एजेंसी ने आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार की तलाश में कई जगहों पर छापे भी मारे. (फाइल फोटो)

कोलकाता: केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने बड़ी मशक्कत के बाद गुरुवार को आईपीएस अधिकारी और कोलकाता के पूर्व शीर्ष पुलिस अधिकारी राजीव कुमार की लोकेशन का पता लगा लिया. जांच एजेंसी ने राजीव कुमार को आज सुबह 11 बजे बहु-करोड़ सारदा चिट फंड घोटाले के सिलसिले में पूछताछ के लिए नया समन जारी किया है. कुमार अपने किसी भी समन में सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए हैं और अगर वह सुबह 11 बजे पेश नहीं होते हैं तो सीबीआई उन्हें गिरफ्तार कर सकती है. इससे पहले एजेंसी ने आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार की तलाश में कई जगहों पर छापे मारे, जो शारदा चिटफंड घोटाले के जांच के सिलसिले में संघीय एजेंसी द्वारा वांछित हैं. कलकत्ता हाईकोर्ट द्वारा उन्हें गिरफ्तारी से दी गई अंतरिम राहत को हटाने के बाद से शुक्रवार की शाम से ही कुमार सार्वजनिक रूप से नजर नहीं आए हैं. जांच एजेंसी द्वारा कई नोटिस भेजने के बावजूद वह सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए.

राजीव कुमार की तलाश के लिए गठित विशेष जांच दल की सीबीआई की टीम ने अलीपोर के आईपीएस अधिकारियों के मेस, पार्क स्ट्रीट स्थित कुमार के आधिकारिक आवास समेत ईस्टर्न मेट्रोपॉलिट बायपास स्थित एक फाइव स्टार होटल में छापा मारा.

एक सीबीआई अधिकारी ने आईएएनएस को फोन पर बताया, "हम उनकी तलाश कर रहे हैं."

कुमार के आवास के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस वाले पहरेदारी कर रहे थे. जब उन्हें सीबीआई की टीम के आने का पता चला तो उन्होंने उनका पहचान पत्र जांच कर उन्हें अंदर जाने दिया.

इसके बाद वे आईपीएस ऑफिसर्स मेस में गए और वहां के पहरेदार, कर्मचारियों से पूछताछ की और कई कमरों की तलाशी ली.

इसके बाद जांच दल ने रूबी हॉस्पिटल क्रासिंग के नजदीक होटल विवांता जाकर वहां के कर्मचारियों से पूछताछ की और आधे घंटे तक छानबीन की. इस दौरान कोलकाता पुलिस के कर्मी सादे कपड़ों में होटल के बाहर तैनात रहे.

(इनपुट-एजेंसी से भी)