केंद्र का ममता सरकार से अनुरोध, बांग्लादेश में फंसे निवासियों को प्रवेश की अनुमति दें

इसमें कहा गया कि बांग्लादेश में फंसे लोग बेहद खराब हालात में रह रहे हैं. वे लोग विद्यालय परिसर और पार्कों में आश्रय लेने को मजबूर हैं. इनमें से अधिकतर लोग श्रमिक हैं जो पड़ोसी देश में अपने रिश्तेदारों से मिलने गए हुए थे. 

केंद्र का ममता सरकार से अनुरोध, बांग्लादेश में फंसे निवासियों को प्रवेश की अनुमति दें
फाइल फोटो

कोलकाता: केंद्र सरकार (Central Government) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) सरकार से दोबारा अनुरोध किया है कि वह मार्च में लॉकडाउन (Lockdown) लागू होने के बाद से ही बांग्लादेश (Bangladesh) में फंसे राज्य के 2,680 निवासियों को प्रवेश की अनुमति दे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है. 

उन्होंने बताया कि कुछ सप्ताह पहले भी केंद्र सरकार ने इसी तरह का अनुरोध किया था, जिसके मद्देनजर बांग्लादेश से सटी छह में से दो जमीनी सीमाओं के जरिए नागरिकों को प्रवेश देने की बात कही गई थी.

ये भी पढ़ें:- दिल्ली में फिर बढ़ी कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 24 घंटे में 1300 नए मामले

विदेश मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव विक्रम दोरईस्वामी ने राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को लिखे पत्र में कहा कि हमारे ढाका स्थित मिशन ने एक बार फिर सूचित किया है कि पेत्रापोल-बेनापोल एकीकृत जांच चौकी के जरिए 2,399 लोग बांग्लादेश से पश्चिम बंगाल लौटना चाहते हैं. इसी तरह, अन्य 281 नागरिक फुलबारी-बंगलाबंध जमीनी सीमा के जरिए लौटने की मांग कर रहे हैं.

इसमें कहा गया कि बांग्लादेश में फंसे लोग बेहद खराब हालात में रह रहे हैं. वे लोग विद्यालय परिसर और पार्कों में आश्रय लेने को मजबूर हैं. इनमें से अधिकतर लोग श्रमिक हैं जो पड़ोसी देश में अपने रिश्तेदारों से मिलने गए हुए थे. इस बीच, मंत्रालय ने रेलवे को भी लिखा है कि वह बांग्लादेश से लोगों को वापस लाने के लिए विशेष ट्रेनें चलाने के विकल्प पर विचार करे.

LIVE TV