CAA के खिलाफ राजघाट पर कांग्रेस का धरना आज, राहुल की युवाओं से अपील, 'विरोध में हों शामिल'
topStorieshindi

CAA के खिलाफ राजघाट पर कांग्रेस का धरना आज, राहुल की युवाओं से अपील, 'विरोध में हों शामिल'

आज सुबह राहुल गांधी ने ट्वीट कर छात्रों और युवाओं से इस धरने में शामिल होने का आह्वान किया है. 

CAA के खिलाफ राजघाट पर कांग्रेस का धरना आज, राहुल की युवाओं से अपील, 'विरोध में हों शामिल'

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ कांग्रेस (Congress) सोमवार को राजघाट (Rajghat ) पर धरना देगी. कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं के इस धरने में शामिल होने की संभावना है. कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि यह धरना सीएए और एनआरसी के खिलाफ छात्रों के आंदोलन और नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ है. 

कांग्रेस ने दिल्ली के राजघाट में विरोध प्रदर्शन आयोजित करने के अलावा सोमवार को कुछ राज्यों में शांति मार्च करने की योजना बनाई है.आज सुबह राहुल गांधी ने ट्वीट कर छात्रों और युवाओं से इस धरने में शामिल होने का आह्वान किया है. 

RAHUL TWEET

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को विरोध प्रदर्शन से पहले युवाओं के नाम एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह पर प्रहार किया, "मोदी व शाह ने आपका भविष्य बर्बाद कर दिया है. वे नौकरियां नहीं दे पा रहे, और उन्होंने अर्थव्यवस्था को जो नुकसान पहुंचाया है, उसको लेकर आपकी नाराजगी का सामना नहीं कर सकते. यही वजह है कि वे हमारे प्रियजनों को बांट रहे हैं और नफरत के पीछे छुप रहे हैं. हम उन्हें हर भारतीय की तरफ से प्यार से जवाब देकर उन्हें हरा सकते हैं."

कांग्रेस छात्रों व दूसरे असंतुष्ट लोगों के समर्थन में आई है और लोगों की आवाज नहीं सुनी जाने के चलते सरकार पर हमला किया है. कांग्रेस महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने शनिवार को कहा था, "भाजपा सरकार की हाल की कार्रवाई को लेकर देशभर के लोगों में व्यापक असंतोष है, खासकर युवकों के बीच." उन्होंने संविधान से मिले अधिकारों को बचाने के लिए संघर्ष करने का आह्वान किया.

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रामलीला मैदान की रैली में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी पर उठते कई सवालों का जहां जवाब दिया, वहीं गलतफहमियां भी दूर करने की कोशिश की. इस दौरान विपक्ष पर निशाना साधने का उन्होंने कोई मौका भी नहीं छोड़ा. प्रधानमंत्री मोदी ने दो टूक शब्दों में कहा कि नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) हो या फिर एनआरसी, इसका देश की 130 करोड़ जनता से कोई लेना-देना नहीं है.

Trending news