दिल्ली हिंसा के उपद्रवियों को बख्शने के मूड में नहीं सरकार, सख्त कार्रवाई के आदेश: सूत्र

सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं.

दिल्ली हिंसा के उपद्रवियों को बख्शने के मूड में नहीं सरकार, सख्त कार्रवाई के आदेश: सूत्र
दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन करते जेएनयू के स्टूडेंट्स.

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को हिंसक प्रदर्शन करने वाले उपद्रवियों को कड़ी कार्रवाई होगी. सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. उधर, जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों के पक्ष में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के स्टूडेंट भी दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन करने पहुंच गए हैं.

पुलिस बलों ने जामिया नगर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को शांत कराने की कोशिश की. हिंसा के बाद पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में लाने की कोशिश की. पांच घंटे के गतिरोध के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से कहा, "आप को कोई कुछ नहीं कहेगा. अपने घरों को जाइए. हम आप से बातचीत करेंगे."

कैम्पस में घुसी पुलिस
वहीं, डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि पुलिस जामिया यूनिवर्सिटी में पहले नहीं घुसी, बल्कि पथराव करने वाले प्रदर्शनकारियों की पहचान के लिए कैम्पस में घुसी.

अफवाहों पर ध्यान न दें
दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी एमएस रंधावा ने कहा, ''स्थिति अब नियंत्रण में है, मैं दिल्ली के लोगों से कहूंगा कि अफवाहों पर ध्यान न दें. दिल्ली पुलिस स्थिति पर नजर रख रही है. हम जल्द ही असामाजिक तत्वों की पहचान करेंगे और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.'' पुलिसकर्मियों की अपील के बाद छात्रों को भीड़ से निकल कर यूनिवर्सिटी की तरफ जाते हुए देखा गया.

LIVE: दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर छात्रों का प्रदर्शन, ZEE NEWS संवाददाता से की बदसलूकी

बता दें कि रविवार देर शाम सीएए के विरोध में जामिया नगर इलाके में अभूतपूर्व हिंसा हुई और बसों को जला दिया गया. इसके अलावा एक स्कूटर व कुछ कारों को क्षतिग्रस्त किया गया. कुछ लोग भी पथराव में घायल हो गए.

(इनपुट-आईएएनएस)