MCD Polls Voter Turnout: दिल्ली में पिछले साल के मुकाबले कम हुआ मतदान, वोटिंग के लिए बूथ तक पहुंचे सिर्फ 50 फीसदी लोग
topStories1hindi1470453

MCD Polls Voter Turnout: दिल्ली में पिछले साल के मुकाबले कम हुआ मतदान, वोटिंग के लिए बूथ तक पहुंचे सिर्फ 50 फीसदी लोग

MCD Election 2022 Voter Turnout: इस चुनाव में चुनाव आयोग ने दिल्ली के 493 जगहों पर 3300 से ज्यादा सेंटर्स को संवेदनशील घोषित किया था. यहां सुरक्षा के कड़ें इंतजाम किए गए थे.

MCD Polls Voter Turnout: दिल्ली में पिछले साल के मुकाबले कम हुआ मतदान, वोटिंग के लिए बूथ तक पहुंचे सिर्फ 50 फीसदी लोग

Delhi MCD Election 2022: दिल्ली एमसीडी चुनाव के लिए वोटिंग आज खत्म हो गई. सभी 250 वार्डों में मतदान सुचारू रूप से संपन्न हुआ. इस दौरान किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली. चुनाव आयोग के मुताबिक करीब 50 फीसदी वोटिंग हुई. ये पिछले एमसीडी चुनाव के मुकाबले 3 फीसदी कम है. साल 2017 के नगर निगम चुनावों में करीब 53 प्रतिशत मतदान हुआ था. इस बार के चुनाव में त्रिकोणिय मुकाबला है, जिसमें 15 सालों से एमसीडी में काबिज भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए आम आदमी पार्टी ने पूरा जोर लगा दिया. वहीं, कांग्रेस भी इस रेस में दिखी. 

दिल्ली एमसीडी चुनाव के नतीजे 7 दिसंबर को यानी गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव के नतीजों से एक दिन पहले आएंगे. तीनों निगमों के एक होने के बाद यह पहला नगर निगम चुनाव है. वोटिंग के दौरान तमाम पार्टियों के नेताओं ने दिल्ली के 2.5 करोड़ मतदाताओं से वोटिंग की अपील की.

बने थे 13,638 वोटिंग सेंटर्स 

चुनाव आयोग के मुताबिक दिल्ली में कुल वोटर्स की संख्या 1,45,05,358 है जिनेमें पुरुष 78,93,418 और महिलाएं 66,10,879 हैं. वहीं, ट्रांसजेंडर्स की संख्या 1,061 है. चुनाव के लिए आयोग ने दिल्ली में 13,638 वोटिंग सेंटर्स बनाए थे.

इस चुनाव में चुनाव आयोग ने दिल्ली के 493 जगहों पर 3300 से ज्यादा सेंटर्स को संवेदनशील घोषित किया था. यहां सुरक्षा के कड़ें इंतजाम किए गए थे. दिल्ली पुलिस के मुताबिक एमसीडी में चुनाव में करीब 1 लाख जवानों की तैनाती की गई. इसमें 40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड और सीएपीएफ तथा एसएपी की 108 कंपनियों को शामिल किया गया था.

निगमों के एक होने के बाद पहला चुनाव
दिल्ली एमसीडी में मई 2022 तक 272 वार्ड थे. उस समय तक तीन नगर निगम कार्यरत थे, जिसमें उत्तरी दिल्ली नगर निगम, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम और पूर्वी दिल्ली नगर निगम का नाम शामिल था. सरकार के एक फैसले के बाद तीनों नगर निगमों को एक बार एक में मिला दिया गया और 22 मई से दिल्ली एमसीडी एक हो गई.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news