बेंगलुरु-दिल्ली के बीच 19 सितंबर से चलेगी पहली 'किसान रेल', ये होंगी सुविधाएं

 किसान रेल मल्टी कमोडिटी और मल्टी-कंसाइनर्स वाली ट्रेनें हैं. यह ट्रेन मैसूरु, हुबली और पुणे से होकर गुजरेगी और पांच यात्राएं करेगी.

बेंगलुरु-दिल्ली के बीच 19 सितंबर से चलेगी पहली 'किसान रेल', ये होंगी सुविधाएं
फाइल फोटो

बेंगलुरु: दक्षिण पश्चिम रेलवे ने कहा है कि पहली 'किसान रेल' कर्नाटक (Karnataka) से दिल्ली (Delhi) के बीच 19 सितंबर से 19 अक्टूबर तक चलेगी. दक्षिण पश्चिम रेलवे के मुताबिक, किसान रेल मल्टी कमोडिटी और मल्टी-कंसाइनर्स वाली ट्रेनें हैं. यह ट्रेन मैसूरु, हुबली और पुणे से होकर गुजरेगी और पांच यात्राएं करेगी.

एन-रूट स्टॉपेज के साथ निश्चित मूल-गंतव्य जोड़े के बीच
यह एन-रूट स्टॉपेज के साथ निश्चित मूल-गंतव्य जोड़े के बीच चलेगी, और एन-रूट स्टॉपेज (En-route stoppage) में से किसी पर भी लोडिंग और अनलोडिंग की अनुमति होगी.  रेलवे ने कहा है कि ट्रेन में 10 वीपीएच (High capacity parcel van), एक ब्रेक लगेज-कम-जनरेटर कार और विकलांग फ्रेंडली कम्पार्टमेंट के साथ एक दूसरी श्रेणी का सामान-सह-ब्रेक वैन होगा.12 एलएचबी कोच होंगे.

ये भी पढ़ें- DNA ANALYSIS: ड्रग्स पर बॉलीवुड का 'बंटवारा', किसको बचाने की कोशिश की जा रही है?

दक्षिण पश्चिम रेलवे ने कहा कि ट्रेन को संचालित करने का निर्णय केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) की 2020-21 के बजट में नष्ट होने वाले सामान जैसे दूध, मांस और मछली के समावेश के लिए एक सहज राष्ट्रीय कोल्ड सप्लाई चेन बनाने की घोषणा के अनुरूप है. (इनपुट आईएएनएस)