close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

किसानों के लिए सरकारी स्कूल के बच्चों ने किया ऐसा आविष्कार, बड़े-बडे वैज्ञानिक रह गए हक्का-बक्का

यह देश का ऐसा पहला सरकारी स्कूल बन गया है जिसके तीन आविष्कारों को नीति आयोग ने टॉप पर रखा है.

किसानों के लिए सरकारी स्कूल के बच्चों ने किया ऐसा आविष्कार, बड़े-बडे वैज्ञानिक रह गए हक्का-बक्का
फोटो साभार: Youtube

बिलासपुर: गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल बिलासपुर एक बार फिर नीति आयोग के साथ ही देश के नक्शे पर छा गया है. इस स्कूल के बाल वैज्ञानिकों के नाम पर अनोखा कीर्तिमान दर्ज हुआ है. यह देश का ऐसा पहला सरकारी स्कूल बन गया है जिसके तीन आविष्कारों को नीति आयोग ने टॉप पर रखा है. सरकारी स्कूल के बाल वैज्ञानिकों में नीत नए आविष्कार करने की ललक है तो देश के चुनिंदा राजनेताओं के प्रति मन में संवेदना भी है. यही कारण है कि इन बाल वैज्ञानिकों ने देश में भविष्य में होने वाली कृषि पर आधारित ऐसा प्रोजेक्ट तैयार किया है जिसे नीति आयोग ने नंबर वन पर रखा है.

बाल वैज्ञानिकों ने इसे पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटलबिहारी वाजपेयी को समर्पित करते हुए इसका नाम अटल कृषि मित्र रखा है. अटल कृषि मित्र ऐसा प्रोजेक्ट है जो खेतों की जुताई से लेकर बोवाई करने का काम करता है. धान के पौधों में कीड़ा लगने पर कीटनाशक का छिड़काव भी करेगा. फसल पकने के बाद धान की कटाई और मिसाई भी करेगा.

यही नहीं खेतों से धान को घर तक पहुंचाने का काम भी अटल कृषि मित्र नाम का रोबोट करेगा. पूरी तरह मानव संचालित इस रोबोट को खेती किसानी के काम में महारत हासिल है. बाल वैज्ञानिकों के इस आविष्कार ने नीति आयोग के अधिकारियों के अलावा वैज्ञानिकों को भी काफी प्रभावित किया है. इस आविष्कार ने ऐसा चमत्कार किया कि देश के चुनिंदा निजी स्कूलों के बाल वैज्ञानिक काफी पीछे रह गए.

नीति आयोग के बैनर तले देशभर में आयोजित अटल टिंकरिंग लैब मैराथान 2019 में टॉप फाइव में गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल बिलासपुर के तीन प्रोजेक्ट को स्थान मिला है.