Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय पर IMA का आरोप, कहा- नहीं मान रहे हमारी सलाह, नींद से जागना है जरूरी

IMA Latest Statement: डॉक्टरों के संगठन IMA ने अपने बयान में यह आरोप भी लगाया कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर (Second Wave India) से निपटने के लिए सही और उचित कदम नहीं उठाए.

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय पर IMA का आरोप, कहा- नहीं मान रहे हमारी सलाह, नींद से जागना है जरूरी
फाइल फोटो: (रॉयटर्स)

नई दिल्ली: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) को ‘जाग’ जाना चाहिए और कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) से पैदा हो रही चुनौतियों से निपटने के लिए कदम उठाना चाहिए.

दूसरी लहर रोकने के कदम नहीं उठाए:IMA

डॉक्टरों के संगठन IMA ने अपने एक बयान में यह भी आरोप लगाया कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए उपयुक्त कदम नहीं उठाए.
 

बयान में कहा गया, ‘IMA मांग करता है कि स्वास्थ्य मंत्रालय को नींद से जाग जाना चाहिए और कोविड-19 महामारी के कारण बढ़ती जा रहीं चुनौतियों से निपटने के लिए कदम उठाना चाहिए.’

ये भी पढ़ें- Coronavirus: Tamil Nadu में कोरोना के सर्वाधिक 27,397 नए मामले, आंध्र प्रदेश-गोवा समेत कई राज्यों का बुरा हाल

VIDEO

'अनुचित फैसलों पर हैरानी'

बयान के अनुसार, ‘कोविड-19 महामारी की दूसरी खौफनाक लहर के कारण पैदा संकट से निपटने में स्वास्थ्य मंत्रालय की ढिलाई और अनुचित फैसलों को लेकर आईएमए एकदम हैरान है.’

इसमें कहा गया कि आईएमए पिछले 20 दिनों से स्वास्थ्य ढांचा बेहतर करने और साजो-सामान तथा कर्मियों को फिर से तैयार करने के लिए पूर्ण और सुनियोजित राष्ट्रीय लॉकडाउन (Lockdown) पर जोर दे रहा है.

डॉक्टरों के संगठन IMA ने ये आरोप भी लगाया है कि कोरोना महामारी से मुकाबला करने के लिए जो फैसले हो रहे हैं, उनका वास्तविक हालात से कोई लेना-देना नहीं है. ऊपर बैठे लोग जमीनी हकीकत को समझने के लिए तैयार ही नहीं हैं. IMA के मुताबिक उनके सदस्यों और एक्सपर्ट्स की सलाह को सरकार ने दरकिनार कर दिया. 

(इनपुट एजेंसियों से)

LIVE TV
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.