दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का 'लोगो' जारी

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और आयुष राज्य मंत्री एस वाई नाइक ने आज यहां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का लोगो जारी किया । संयुक्त राष्ट्र महासभा ने बीते 11 दिसंबर को भारत की अगुवाई में लाया गया एक प्रस्ताव स्वीकार कर 21 जून को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ घोषित किया था । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा यह विचार सुझाए जाने के तीन महीने के भीरत प्रस्ताव स्वीकार कर लिया गया था ।

नई दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और आयुष राज्य मंत्री एस वाई नाइक ने आज यहां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का लोगो जारी किया । संयुक्त राष्ट्र महासभा ने बीते 11 दिसंबर को भारत की अगुवाई में लाया गया एक प्रस्ताव स्वीकार कर 21 जून को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ घोषित किया था । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा यह विचार सुझाए जाने के तीन महीने के भीरत प्रस्ताव स्वीकार कर लिया गया था ।

इस मौके पर सुषमा ने कहा, ‘यहां मैं तीन महत्वपूर्ण बातें रखना चाहूंगी । पहला यह घोषणा भारत की पहल के तुरंत बाद की गई ।’ उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने पिछले साल 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन के दौरान यह प्रस्ताव रखा था । जिस दिन पर सहमति बनी वह इसलिए कि उत्तरी गोलार्ध में वह साल का सबसे लंबा दिन होता है ।’ विदेश मंत्री ने कहा, ‘दूसरी बात यह कि 75 दिनों के रिकॉर्ड समय के भीतर प्रस्ताव पारित किया गया और तीसरी बात यह कि यह ऐसा पहला प्रस्ताव था जिसमें 177 देश विश्व योग दिवस के लिए सह-प्रायोजक बने थे । यह विश्व रिकॉर्ड है । नेल्सन मंडेला का जन्मदिन मनाने के लिए 165 देश सह-प्रयोजक बने थे ।’ सुषमा ने कहा कि भारत का लक्ष्य संयुक्त राष्ट्र के सभी 193 देशों में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाना है ।

आयुष मंत्रालय द्वारा गठित योग विशेषज्ञों की समिति ने ‘लोगो’ का चयन किया और प्रधानमंत्री ने इसे अपनी मंजूरी दी। लोगो में मानवता के लिए सद्भाव एवं शांति प्रदर्शित की गई है जो योग का अभिन्न तत्व है ।