MCD Election 2022: दिल्ली में 3 दिन तक नहीं बिकेगी शराब, इस वजह से लिया गया बड़ा फैसला
topStories1hindi1465858

MCD Election 2022: दिल्ली में 3 दिन तक नहीं बिकेगी शराब, इस वजह से लिया गया बड़ा फैसला

MCD Polls: दिल्ली आबकारी विभाग ने दिल्ली में एमसीडी चुनाव (MCD Election) के कारण लगातार 3 दिन तक शराब बिक्री पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है. वोटों की काउंटिंग वाले दिन भी शराब की दुकानें बंद रहेंगी.

MCD Election 2022: दिल्ली में 3 दिन तक नहीं बिकेगी शराब, इस वजह से लिया गया बड़ा फैसला

Liquor Sale Ban: दिल्ली में एमसीडी चुनाव 2022 (MCD Election 2022) की वजह से शुक्रवार से लेकर रविवार तक शराब की दुकानें बंद रहेंगी. दिल्ली में शराब की बिक्री नहीं होगी. दिल्ली के आबकारी विभाग ने एमसीडी चुनाव के चलते यह ऐलान किया है. एमसीडी चुनाव में शराब बांटे जाने की आशंका के चलते ऐसा किया गया है. जान लें कि दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों के लिए चुनाव होना है. 4 दिसंबर यानी रविवार को एमसीडी चुनाव के लिए मतदान होगा. वोटों की काउंटिंग 7 दिसंबर को होगी.

7 दिसंबर को भी रहेगा ड्राई डे

दिल्ली आबकारी विभाग ने बताया कि वोटों की काउंटिंग वाले दिन 7 दिसंबर भी ड्राई डे रहेगा. 7 दिसंबर को भी शराब की बिक्री पर पाबंदी रहेगी. दिल्ली में शराब की दुकानें 7 दिसंबर को बंद रहेंगी. जान लें कि ड्राई डे वो दिन होता है जिस दिन सरकार क्लबों, बार और दुकानों आदि में शराब की बिक्री पर पाबंदी लगा देती है.

आबकारी विभाग ने जारी किया आदेश

दिल्ली आयुक्त (आबकारी) कृष्ण मोहन उप्पु ने एक अधिसूचना जारी करते हुए कहा कि दिल्ली एक्साइज रूल, 2010 के नियम 52 के प्रावधानों के मुताबिक आदेश दिया जाता है कि 2 से 4 दिसंबर और 7 दिसंबर को शहर में ड्राई डे मनाया जाएगा. शराब की बिक्री पर रोक रहेगी.

2 से 4 दिसंबर तक शराब की बिक्री पर रोक

आबकारी विभाग की तरफ से कहा गया है कि 2 दिसंबर को शाम साढ़े पांच बजे से 4 दिसंबर को शाम साढ़े पांच बजे तक दिल्ली में ड्राई डे मनाया जाएगा. शराब की दुकानें इस दौरान बंद रहेंगी. जो भी इस नियम का उल्लंघन करेगा, उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी. आदेश के मुताबिक, 7 दिसंबर को भी 24 घंटे के लिए ड्राई डे मनाया जाएगा. 7 दिसंबर को एमसीडी चुनाव के वोटों की गिनती होगी.

बता दें कि एमसीडी चुनाव में बीजेपी को आप और कांग्रेस टक्कर दे रही हैं. बीजेपी एमसीडी में पिछले 15 साल से काबिज है. जहां बीजेपी के सामने ये गढ़ बचाने की चुनौती है तो आप और कांग्रेस एमसीडी चुनाव में नया अवसर देख रही हैं. एमसीडी चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है.

(इनपुट- भाषा)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news