close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आकाश विजयवर्गीय के बाद दमोह भाजयुमो उपाध्यक्ष ने भी थामा बल्ला, समर्थक बोले- वह गरीबों का काम कराने पहुंचे थे

भाजपा युवा मोर्चा के जिले के उपाध्यक्ष विवेक अग्रवाल का भी एक फोटो सामने आया है, जिसमें वह दमोह नगर पालिका के दफ्तर में एक अधिकारी के चेंबर में बल्ला लिए कुर्सी पर बैठे दिखाई दे रहे हैं.

आकाश विजयवर्गीय के बाद दमोह भाजयुमो उपाध्यक्ष ने भी थामा बल्ला, समर्थक बोले- वह गरीबों का काम कराने पहुंचे थे
दमोह जिले के भाजयुमो उपाध्यक्ष हैं विवेक अग्रवाल
Play

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के इंदौर में नगर निगम के अधिकारी की बैट से पिटाई करने के बाद चर्चा में आए भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय के बाद अब दमोह जिले के भाजपा युवा मोर्चा के जिले के उपाध्यक्ष विवेक अग्रवाल का भी एक फोटो सामने आया है, जिसमें वह दमोह नगर पालिका के दफ्तर में एक अधिकारी के चेंबर में बल्ला लिए कुर्सी पर बैठे दिखाई दे रहे हैं. वहीं इस पूरे मामले के बारे में बताया जा रहा है कि विवेक दमोह के नगर पालिका में गरीबों का काम कराने के लिए गए थे, जहां उन्होंने भी भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के नक्शेकदम पर चलते हुए हाथों में बल्ला थाम रखा था. ऐसे में सवाल यह उठते हैं कि वह वहां गरीबों का काम कराने पहुंचे थे या नगर पालिका के अधिकारियों को धमकाने.

बता दें बीते बुधवार को एक जर्जर मकान गिराने गई इंदौर नगर निगम की टीम के एक अधिकारी के साथ भाजपा विधायक आकाश ने बैट से मारपीट कर दी थी, जिसके बाद हर तरफ यह मामला तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है. वहीं इस पूरी घटना के बाद इंदौर पुलिस ने विधायक आकाश विजयवर्गीय के साथ ही करीब 10 और लोगों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 353 (लोक सेवक को भयभीत कर उसे उसके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिये उस पर हमला), 294 (गाली-गलौज), 323 (मारपीट), 506 (धमकाना), 147 (बलवा) और 148 (घातक हथियारों से लैस होकर बलवा) के तहत प्राथमिकी दर्ज की थी और भाजपा महासचिव के बेटे (आकाश विजयवर्गीय) को हिरासत में ले लिया था.

इंदौर में लगे BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे के पोस्टर्स, लिखा- सैल्यूट आकाश जी

मामले की जानकारी देते हुए इंदौर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रुचिवर्धन मिश्रा ने बताया कि विजयवर्गीय और 10 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. बता दें नगर निगम के अधिकारी से मारपीट करने के मामले में इंदौर कोर्ट ने आकाश विजयवर्गीय की जमानत याचिका खारिज कर दी है, जिसके बाद अब भोपाल की विशेष अदालत मामले की सुनवाई करेगी. बता दें भोपाल की विशेष अदालत में ही मध्य प्रदेश के विधायकों और सांसदों से जुड़े मामलों की सुनावाई होती है. ऐसे में अब आकाश विजयवर्गीय के मामले की भी सुनवाई इसी अदालत में होगी.