भोपालः 6 महीने से बंद पड़े फ्लैट के दीवान से मिला बुजुर्ग महिला का शव

पुलिस अधिकारी दिनेश अग्रवाल ने सोमवार को बताया, 'शहर के बागसेवनिया थाना क्षेत्र के विद्यानगर स्थित एक बंद फ्लैट से रविवार को एक शव बरामद हुआ है.

भोपालः 6 महीने से बंद पड़े फ्लैट के दीवान से मिला बुजुर्ग महिला का शव
शव पर चोट के कोई बाहरी निशान नहीं हैं. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.(प्रतीकात्मक फोटो)

भोपालः भोपाल में लंबे समय से एक बंद पड़े फ्लैट में रखे दीवान से छह महीने पुराना एक शव मिला है और ऐसी आशंका है कि यह शव फ्लैट में रहने वाली 60 वर्षीय महिला का है. महिला के साथ फ्लैट में रहने वाला उसका बेटा भी छह महीने से लापता है. मिसरौद के पुलिस अनुविभागीय अधिकारी (एसडीओपी) दिनेश अग्रवाल ने सोमवार को बताया, 'शहर के बागसेवनिया थाना क्षेत्र के विद्यानगर स्थित एक बंद फ्लैट से रविवार को एक शव बरामद हुआ है. शव कमरे में रखे दीवान के अंदर रजाई एवं कपडों में लिपटा हुआ था.’’  उन्होंने कहा, 'अनुमान के मुताबिक यह शव करीब छह महीने पुराना है, क्योंकि पड़ोसियों का कहना है कि फ्लैट में करीब छह महीने से ताला लगा हुआ था.' 

एयर इंडिया की फ्लाइट में बड़ी लापरवाही, यात्री के ब्रेकफास्ट में निकला कॉकरोच

अग्रवाल ने बताया कि शव की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि शव इसी फ्लैट में रहने वाली 60 वर्षीय विमला श्रीवास्तव का है. वह सरकारी नौकरी करती थीं और यहां अपने 30 वर्षीय बेरोजगार बेटे अमित के साथ रहती थीं. अमित करीब छह महीने से लापता है. उन्होंने बताया कि शव पर चोट के कोई बाहरी निशान नहीं हैं. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. उन्होंने बताया कि शव पर चोट के कोई बाहरी निशान नहीं हैं. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

सख्त पुलिस अफसर, नर्म दिल इंसान हैं नए CBI चीफ ऋषि कुमार शुक्ला

अग्रवाल ने बताया कि पुलिस अमित की तलाश कर रही है. उन्होंने बताया कि विमला ने यह फ्लैट करीब आठ महीने पहले एक व्यक्ति को बेच दिया था, लेकिन ताला लगे होने और विमला एवं उसके बेटे से संपर्क नहीं होने के कारण खरीदार को अभी तक इसका कब्जा नहीं मिला है. अग्रवाल ने बताया कि फ्लैट के वर्तमान मालिक ने साफ सफाई करने के लिए रविवार को इसका ताला खुलवाया, तब शव का पता चला. उन्होंने बताया कि पड़ोसियों ने पिछले छह महीने में कभी भी फ्लैट से कोई दुर्गंध आने की शिकायत नहीं की.