CM शिवराज ने बताया कोरोना को हराने का पूरा प्लान, कहा- इन लोगों के खातों में भेजे जाएंगे 1-1 हजार रुपए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना के विरूद्ध युद्ध में मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हो जायें तो कोरोना को पराजित किया जा सकता है...

CM शिवराज ने बताया कोरोना को हराने का पूरा प्लान, कहा- इन लोगों के खातों में भेजे जाएंगे 1-1 हजार रुपए

भोपाल: मध्य प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना कहर के बीच सीएम शिवराज ने गुरुवार को प्रदेश की 23, 000 ग्राम पंचायतों के जनप्रतिनिधियों से चर्चा की. वर्चुअल तरीके से किए गए संवाद के दौरान सीएम शिवराज ने कोविड-19 की रोकथाम के संबंध में पंचायत के जनप्रतिनिधियों को जरूरी निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी इंतजाम किये जा रहे हैं. बीमारी बड़ी है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है. सही समय पर इलाज करें तो बिल्कुल ठीक हो सकते हैं. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना के विरूद्ध युद्ध में मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हो जायें तो कोरोना को पराजित किया जा सकता है. यदि हमने हमारा गांव बचा लिया, तो हम प्रदेश और देश को बचाने में भी सफल हो जाएंगे. कोरोना का संकट बड़ा है पर हमारा हौसला उससे भी ज्यादा बड़ा है.

टीका लगवाने की अपील
सीएम शिवराज ने अपील करते हुए कहा कि 'वैक्सीनेशन के लिये मैं आपसे प्रार्थना करता हूं, टीकाकरण जरूरी है. 45 साल से ऊपर के सभी भाई-बहनों को टीका लगवाइये. 1 मई से 18 साल से ऊपर के बेटे-बेटियों को भी टीका लगाया जायेगा. प्रदेश सरकार निशुल्क टीका लगवायेगी.' 

सीएम शिवराज ने बताया कैसे लड़ेंगे कोरोना से जंग
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के विरूद्ध यह लड़ाई योजनाबद्ध तरीके से लड़ी जाएगी. इसकी रणनीति के अंतर्गत दो स्तरों पर कार्य करना है. प्रथम जो संक्रमित हो गए हैं, उनका बेहतर इलाज सुनिश्चित हो और दूसरा संक्रमण की चेन टूटे. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए भीड़ की संभावनाओं को शून्य करना होगा, जो शादी, विवाह टाले जा सकते हैं, उन्हें अपने और देश के हित में टालें. हम प्रण लें कि भीड़ इकट्ठी नहीं होने देंगे. प्रदेश की 14 हजार 700 पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से जनता कर्फ्यू लगाया है. गांव वाले स्वयं कोरोना कर्फ्यू का क्रियान्वयन कर रहे हैं, पिछले दिनों प्रभावी रहे इस प्रयास से कई जिलों का पॉजिटिविटी रेट घटा है.

प्रतिदिन 9 से 10 हजार व्यक्ति हो रहे हैं स्वस्थ
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जो व्यक्ति कोरोना से प्रभावित हैं, उनके इलाज की घर पर ही व्यवस्था के लिए होम आयसोलेशन के अंतर्गत डॉक्टरी सलाह और सावधानियों की जानकारी देने की व्यवस्था की गई है. जिन लोगों के घरों में आयसोलेशन की व्यवस्था नहीं है, ऐसे मरीजों के लिए कोविड केयर सेंटर में व्यवस्था की गई है, जिन गांवों में सर्दी, खांसी, जुकाम ज्यादा लोगों को है या कोरोना के संभावित व्यक्ति हैं, वहां पंच, सरपंच, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पंचायत सचिव, रोजगार सहायक मिलकर घर-घर सर्वे करें और हर बीमार व्यक्ति को मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए. छिंदवाड़ा, खण्डवा, बुरहानपुर में इस दिशा में हुए कार्य से संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है. प्रदेश में अब प्रतिदिन 9 से 10 हजार व्यक्ति स्वस्थ हो रहे हैं.

टीकाकरण को करें प्रोत्साहित
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के कठिन काल में ग्रामीण भाइयों, मजदूरों, किसानों का हरसंभव ध्यान रखा जा रहा है. तीन महीने का नि:शुल्क राशन उपलब्ध कराने के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं.  मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स योजना के हितग्राहियों के बैंक खाते में एक-एक हजार रूपए डाले जा रहे हैं. प्रदेश में एक मई से 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाएगा. ग्राम स्तर पर अधिक से अधिक व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया जाए.

ये भी पढ़ें: इंदौर पहुंची रेमडेसिविर की चौथी खेप, CM शिवराज ने बताया किस जिले को मिलेंगे कितने इंजेक्शन

ये भी पढ़ें: MP में कोरोना: 24 घंटों में 13590 नए मरीज मिले, 74 की मौत, जानें भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर का हाल

WATCH LIVE TV