close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP सांसद का दावा, मध्य प्रदेश में कुछ दिनों की मेहमान है कमलनाथ सरकार

दमोह से भाजपा सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल फिलहाल दमोह सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं, लेकिन उनके निशाने पर प्रदेश की सरकार है. प्रहलाद पटेल की मानें तो कमलनाथ सरकार ज्यादा दिनों की नहीं है.

BJP सांसद का दावा, मध्य प्रदेश में कुछ दिनों की मेहमान है कमलनाथ सरकार
दमोह लोकसभा सीट से सांसद हैं प्रहलाद पटेल

नई दिल्लीः देश भर में जहां भाजपा एक बार फिर से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठाने के लिए जद्दोजहद कर रही है, वहीं मध्यप्रदेश में बीजेपी की निगाहें कमलनाथ की कुर्सी पर है. प्रदेश भाजपा के नेता कई बार ये बयान दे चुके हैं कि कमलनाथ की सरकार नहीं बचेगी. ऐसे में अब जो लोग खुद लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमा रहे हैं वो भी प्रदेश सरकार पर टकटकी लगाए हैं. दमोह से भाजपा सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल फिलहाल दमोह सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं, लेकिन उनके निशाने पर प्रदेश की सरकार है. प्रहलाद पटेल की मानें तो कमलनाथ सरकार ज्यादा दिनों की नहीं है. प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार खुद अपने बोझ की वजह से गिर जाएगी और ये सब जल्दी होगा.

साध्वी प्रज्ञा ने अब दिग्विजय सिंह को बताया 'महिषासुर', बोलीं- 'उनके कुकर्मों का प्रमाण हूं मैं'

हालांकि पटेल ये भी कहते है की प्रदेश सरकार का लोकसभा चुनाव से कोई लेना देना नहीं है, लेकिन उनका बयान कुछ और ही कहता है. बता दें इससे पहले नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव भी कुछ ऐसा ही बयान दे चुके हैं. अपने बयान में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा था कि 'केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद प्रदेश में कमलनाथ सरकार खुद ब खुद ही गिर जाएगी.' इसके साथ ही भार्गव ने यह भी कहा था कि कमलनाथ की कुंडली भी ठीक नहीं है, उनकी सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है. मैंने उनकी कुंडली कुंभ में ज्योतिषों को भी दिखाई है, उनका कहना है प्रदेश की कमलनाथ सरकार ज्यादा दिन की मेहमान नहीं है.

ई-टेंडरिंग घोटाले की जांच पर बोले CM कमलनाथ- हम सच्चाई सामने ला रहे हैं तो हंगामा क्यों हो रहा है?

वहीं अब सांसद का चुनाव लड़ रहे प्रहलाद पटेल ने ये सब कहा है जिससे साफ़ है की भाजपा की नजर केंद्र की कुर्सी के साथ-साथ मध्यप्रदेश की कुर्सी पर भी है. बता दें इससे पहले कमलनाथ भी भाजपा नेताओं के बयानों पर तंज कस चुके हैं और उन्हें मध्य प्रदेश में वापसी का सपना न देखने की सलाह दे चुके हैं. कमलनाथ ने अपने बयान में कहा था कि 'मेरी सरकार गिराना भारतीय जनता पार्टी का एक सपना है. मुझे अपने विधायकों पर पूरा भरोसा है. मेरे विधायक मेरे साथ हैं और आगे भी रहेंगे. भारतीय जनता पार्टी मेरी सरकार गिराने का सपना भूल जाए.'