कृषि मंत्री के गृह जिले में हो रही चने की कालाबाजारी, प्रशासन को लगी भनक तो की तत्काल कार्रवाई

 चना खरीदी से पहले ही कृषि मंत्री कमल पटेल के गृह जिले हरदा में चना खरीदी में मुनाफाखोरों की कालाबाजारी का खेल महाराष्ट्र से लगभग 200 क्विंटल चना हरदा के वर्धमान वेयरहाउस के नाम पर लाया गया लेकिन खेत में खाली होता पाया गया.

कृषि मंत्री के गृह जिले में हो रही चने की कालाबाजारी, प्रशासन को लगी भनक तो की तत्काल कार्रवाई
सांकेतिक तस्वीर

राम पाराशर/हरदा: लॉकडाउन के बीच सरकार ने किसानों को उनकी फसल खरीदी के लिए छूट दी है. समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी पहले ही शुरू की जा चुकी थी जबकि चना खरीदी अब शुरू की गई है. प्रदेश में भी आज से समर्थन मूल्य पर चना खरीदी की शुरू हो चुकी है. चना खरीदी से पहले ही कृषि मंत्री कमल पटेल के ग्रह जिले हरदा में चना खरीदी में मुनाफाखोरों की कालाबाजारी का खेल महाराष्ट्र से लगभग 200 क्विंटल चना हरदा के वर्धमान वेयरहाउस के नाम पर लाया गया, लेकिन वेयरहाउस की जगह 6 मई की रात अंधेरे में बेरी ग्राम के एक खेत में खाली होता पाया गया.

ये भी पढें-होशंगाबाद: शराब खरीदने वालों की उंगलियों पर लगाई जा रही स्याही, लोगों में डर का माहौल

इसकी सूचना प्रशासन को मिली तो इस विषय में तत्काल कार्रवाई करते हुए उस ट्रक को जब्त कर ली. कलेक्टर अनुराग वर्मा के मुताबिक चना खरीदी में कालाबाजारी को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है. उन्होंने बताया कि अगर कोई भी गलत तरीके से उपज को बेचने की कोशिश करेगा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा. अनुराग वर्मा का कहना है कि किसानों के नाम पर व्यापारी कुछ किसानों से मिलकर इस तरह के काम को अंजाम देते हैं.

Watch LIVE TV-