सतना: आतंक का पर्याय बने डकैत 'बबली कोल' का अंत, साथी डकैत भी मारा गया
Advertisement

सतना: आतंक का पर्याय बने डकैत 'बबली कोल' का अंत, साथी डकैत भी मारा गया

बबली कोल गिरोह (Babli Kol Gang) कुछ दिन पहले ही अवधेश नाम के किसान का अपहरण कर चर्चा में आया था.

पुलिस ने डकैत बबली कोल और लवकेश कोल के मारे जाने की पुष्टि कर दी है.

सतना: मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों में आतंक का पर्याय बने कुख्यात डकैत (Dacoit) बबली कोल (babli kol ) और उसके साथी लवलेश कोल को मध्य प्रदेश पुलिस ने रविवार रात एक मुठभेड़ में मार गिराया. सतना पुलिस का दावा है कि धारकुंडी थाना क्षेत्र के वीरपुर के पास पहाड़ी में डकैतों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया. गौरतलब है कि डकैत बबली कोल पर साढ़े छह लाख और डकैत लवलेश कोल पर एक लाख 80 हजार का इनाम था. 

पुलिस ने डकैत बबली कोल और लवकेश कोल के मारे जाने की पुष्टि कर दी है. बबली कोल गिरोह (Babli Kol Gang) कुछ दिन पहले ही अवधेश नाम के किसान का अपहरण कर चर्चा में आया था. बता दें कि इन दोनों डकैतों की मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश पुलिस लंबे समय से तलाश कर रही थी.

 

बताया जा रहा है कि कॉम्बिंग के दौरान वीरपुर जंगल में पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ हो गई. मुठभेड़ में दोनों ओर से जबरदस्त फायरिंग हुई. इस दौरान गोली लगने से डकैत बबली कोल और लवकेश कोल की मौत हो गई. 

Trending news