close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ये मयखाना नहीं स्कूल है!

छिंदवाड़ा से ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसे देखकर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि ये स्कूल है कि मयखाना, पढ़िए पूरी ख़बर। 

ये मयखाना नहीं स्कूल है!

छिंदवाड़ा: हमारे देश और हमारी संस्कृति में गुरु का स्थान भगवान से भी ऊपर रखा गया है, गुरुओं को देखकर और उनसे सीखकर बच्चों का चरित्र निर्माण होता है।

लेकिन मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से ऐसी तस्वीर सामने आईं हैं जिन्हें देखकर आप हैरान रह जाएंगे कि क्या ऐसे ही होगा देश का निर्माण।

तस्वीर छिंदवाड़ा ज़िले के टोला पांजरा प्राथमिक स्कूल की हैं जहां पोस्टेड निरंजन वर्मा नाम का शिक्षक पिछले एक साल से रोजाना शराब के नशे में स्कूल पहुंचता है।

इतना ही नहीं स्कूल में बच्चों को पढ़ाने-लिखाने की बजाय आरोप है की शराबी टीचर छात्राओं के सामने बैठकर शरबा पीता है।

और फिर नशे में मदहोश होकर ये महाशय स्कूल में लोटपोट हो जाते हैं टीचर नशे में इस कदर चूर हो जाता है कि उसमें उठने तक की हिम्मत नहीं होती।

शराबी टीचर निरंजन वर्मा की हरकतों से साथी टीचर भी हैरान हैं और परेशान हैं वो कई बार उसे समझा चुके हैं लेकिन आरोपी टीचर पर इसका कोई असर नहीं हुआ। 

कई बार स्थानीय लोग उसे पकड़कर उसके घर पहुंचाकर आते हैं उधर ट्राइबल आयुक्त एन एस बरकड़े का कहना है कि शराबी शिक्षक को दो बार सस्पेंड किया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि इसके बादजूद वो सुधरने का नाम ही नहीं ले रहा है लिहाज़ा अब उसे टर्मिनेट करने के लिए नोटिस दिया जाएगा।