close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंदौरः विद्युत मंडल कार्यालय के बाद होटल में लगी आग, जान बचाने के लिए कांच तोड़कर कूदे लोग

आग लगने की खबर फैलते ही हर तरफ अफरा-तफरी मच गई और होटल में रह रहे लोगों ने खिड़कियों के कांच तोड़कर बाहर निकलने की कोशिश शुरू कर दी. वहीं होटल में लगी आग की सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने सही समय पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया.

इंदौरः विद्युत मंडल कार्यालय के बाद होटल में लगी आग, जान बचाने के लिए कांच तोड़कर कूदे लोग
इंदौर के एमजी रोड स्थित होटल बाबा में लगी आग (सांकेतिक तस्वीर)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के इंदौर में गुरुवार रात बिजली विभाग के मुख्य बिजली घर के एक ट्रांसफार्मर में आग लगने के बाद सुबह करीब 8 बजे एमजी रोड स्थित एक होटल में भी आग लग गई. जिसके बाद रास्ते से निकल रहे राहगीरों ने होटल से निकलता धुआं देखकर होटल स्टाफ और फायर ब्रिगेड को आग लगने की सूचना दी. होटल में आग लगने की खबर फैलते ही हर तरफ अफरा-तफरी मच गई और होटल में रह रहे लोगों ने खिड़कियों के कांच तोड़कर बाहर निकलने की कोशिश शुरू कर दी. वहीं होटल में लगी आग की सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने सही समय पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया. जिससे किसी भी तरह की जनहानि नहीं हुई है. 

होटल में आग लगने की सूचना मिलने पर घटना स्थल पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम और पुलिस ने राहत बचाव कार्य शुरू किया और होटल में मौजूद लोगों को सही सलामत बाहर निकाल लिया. हालांकि आग में कुछ एक लोगों को जल्दबाजी के चलते मामूली चोट आई है, जिन्हें प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल भेज दिया गया है. बता दें घटना इंदौर के एमजी रोड स्थित बाबा होटल की है. जहां रास्ते से निकल रहे लोगों ने सुबह होटल से धुआं उठता देखा. जिसके बाद राहगीरों ने पुलिस, फायर ब्रिगेड सहित होटल के स्टाफ को इसकी जानकारी दी. सही समय पर जानकारी मिल जाने पर आग फैलने से पहले ही कंट्रोल कर ली गई.

देखें लाइव टीवी

मध्य प्रदेशः इंदौर के विद्युत मंडल कार्यालय में लगी भीषण आग, कई इलाकों में ब्लैक आउट

बता दें इंदौर में ही गुरुवार को विद्युत मंडल कार्यालय में आग लग गई, जिससे आधा शहर अंधेरे में डूब गया. रात करीब 8:30 बजे चंबल ग्रिड से जुड़े पोलोग्राउंड स्थित 66 एमवीए की ग्रिड में अचानक आग लग जाने से लैब में रखा करोड़ों का रिसर्च उपकरण भी जलकर खाक हो गए. मिली जानकारी के मुताबिक, देर रात छात्रों ने बायो साइंस और बायो इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में बनी लैब से धुआं उठता देखा. जिसके बाद छात्रों ने इसकी जानकारी डायरेक्टर प्रदीप माथुर को दी. डारेक्टर प्रदीप माथुर जब घटना स्थल पर पहुंचे तब तक आग काफी बढ़ चुकी थी.