धोती-कुर्ता क्रिकेटः जब पंडितों ने मैदान में उतर लगाई चौकों-छक्कों की झड़ी, संस्कृत में हुई कॉमेंट्री

भोपाल में इन दिनों न सिर्फ धोती कुर्ता पहन कर क्रिकेट खेला जा रहा है, बल्कि मैच के दौरान संस्‍कृत भाषा में कमेंट्री भी की जा रही है. पढ़िए पूरी खबर...

धोती-कुर्ता क्रिकेटः जब पंडितों ने मैदान में उतर लगाई चौकों-छक्कों की झड़ी, संस्कृत में हुई कॉमेंट्री
मैच खेलते पंडित, (डिजाइन फोटो)
Play

भोपाल: क्रिकेट के तरह-तरह के रंग व क्‍लेवर आपने देखे होंगे, लेकिन क्‍या कभी धोती-कुर्ते में क्रिकेट देखा है? . जी हां, राजधानी भोपाल में इन दिनों धोती-कुर्ते में ही क्रिकेट खेला जा रहा है. खास बात ये है कि क्रिकेट मैच के दौरान कॉमेंट्री हिंदी-अंग्रेजी नहीं बल्कि संस्कृत भाषा में की जा रही है.

अलग ही था नजारा
रविवार को जब भोपाल के अंकुर क्रिकेट मैदान में खिलाड़ी उतरे तो एक अलग ही माहौल नजर आया. यहां खिलाड़ियों ने धोती-कुर्ता पहन रखा था. उनके मस्तक पर त्रिपुंड और टीका, गले में रूद्राक्ष की माला थी. माहौल ऐसा था कि मानो आस-पास कोई यज्ञ का आयोजन या पूजा-पाठ हो.

ये भी पढ़ें: ज्यादा सैलरी और अच्छे भविष्य के लालच में पहुंची थी सऊदी अरब, झेलनी पड़ीं यातनाएं, अब लौटी अपने वतन

एमपी में आकर्षण का केंद्र बनी प्रतियोगिता
मैच के दौरान पीली धोती और कुर्ता पहन कर मैदान में खिलाड़ी बल्‍लेबाजी, गेंदबाजी व फील्डिंग करते नजर आए. इस दौरान पंडितों ने जमकर चौके-छक्के भी लगाए. संस्‍कृत में कमेंट्री वाला यह विशेष टूर्नामेंट इस वक्‍त राजधानी भोपाल ही नहीं, बल्कि पूरे मध्य प्रदेश में आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

खिलाड़ी, अंपायर और कॉमेंटेटर सभी संस्कृत में बोले
मैच के दौरान खिलाड़ियों का भी उत्साह देखते बना. खिलाड़ी फील्डिंग लगाने से लेकर सभी तरह की बातें संस्कृत में ही कर रहे थे. मैच की अंपायरिंग अभिषेक शर्मा व मिथुन शर्मा कर रहे थे. अंपायरों ने भी ग्राउंड पर संस्कृत भाषा बोली. कमेंट्रेटर देवेंद्र दुबे, डॉ. रमन मिश्र, अंकुर पांडे ने कई बार उपस्थित दर्शकों की तालियां बटोरीं.

महर्षि महेश योगी के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजन
क्रिकेट टूर्नामेंट का यह आयोजन महर्षि महेश योगी के 104वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में किया जा रहा है. आयोजक पंडित कपिल शर्मा ने बताया कि स्पर्धा का आयोजन महर्षि महेश योगी के 104वें जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में किया जा रहा है. प्रतियोगिता में पुरस्कार स्वरूप वेद पुस्तकें प्रदान की जाती हैं.

ये भी पढ़ें: कंगना-शिवराज की मुलाकात पर कांग्रेस को ऐतराज, कमलनाथ-जैकलीन की याद दिलाकर पूछा ये सवाल

तीन मैचों का परिणाम
राजधानी भोपाल के अंकुर मैदान पर रविवार को दो मैच खेले गए.

  1. 8-8 ओवर का पहला मैच गांधी नगर और गुफा मंदिर के बीच खेला गया. इसमें गुफा मंदिर की टीम विजेता रही.
  2. दूसरा मैच लाल घाटी क्लब और विश्वनाथ एकादश के बीच खेला गया. इस रोमांचक मुकाबले में विश्वनाथ एकादश ने जीत हासिल की.
  3. तीसरा मैच महर्षि क्लब और नीलकंठ के बीच हुआ. इसमें नीलकंठ क्लब ने जीत दर्ज की.

प्लेयर ऑफ द मैच में मिलती है पुस्तक

यहां प्लेयर ऑफ द मैच को एक वेद पुस्तक मिलती है, जबकि मैन ऑफ द सीरीज के लिए पंचांग रखा गया है.

ये है प्रतियोगिता का इनाम
 विजेता टीम को 5001 और उपविजेता को 2100 रुपए का पुरस्कार इनाम रखा गया है.

क्या है इस प्रतियोगिता का उद्देश्य
देशभर में देव भाषा के नाम से जानी जाने वाली संस्कृत भाषा को प्रमोट करने और लोगों को इससे जागरूक करने के उद्देश्य से इस अनोखी क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है. इसमें राजधानी भोपाल के तमाम कर्मकांडी ब्राह्मण धोती कुर्ता पहनकर क्रिकेट के बल्ले पर हाथ आजमा रहे हैं. इसका उद्देश्य अपनी संस्कृति से नई पीढ़ी को रूबरू कराना और संस्कृत भाषा का प्रचार प्रसार करना है.

संस्कृत में क्रिकेट

बैट- काष्ठपट्टः

बॉल- कन्दुकम्

बॉलर-  कन्दुकक्षेपकः

फील्डर- क्षेत्ररक्षकः

पिच- क्रीडांगणम्

ओवर- कन्दुकसमूहः

कैच- कराबद्धम्

ये भी पढ़ें: नए साल में बैंक लोन के सिरदर्द से पाना चाहते हैं छुटकारा, तो आजमाइये ये तरीके

ये भी पढ़ें: MP कांग्रेस के इस दिग्गज नेता ने स्वीकारा, पार्टी में है अनुशासनहीनता, कार्यकर्ताओं को दी ये सलाह

WATCH LIVE TV