close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्‍ट्र, मप्र, केरल और कर्नाटक में बारिश का कहर, बाढ़ से 26 की मौत

महाराष्ट्र के साथ मध्‍यप्रदेश और केरल समेत देश के कुछ राज्‍यों में बारिश का कहर जारी है. महाराष्ट्र के कोल्हापुर व सांगली में बाढ़ से 26 लोगों की मौत हुई है.

महाराष्‍ट्र, मप्र, केरल और कर्नाटक में बारिश का कहर, बाढ़ से 26 की मौत
महाराष्‍ट्र के सांगली में बाढ़ के कारण हालात सबसे ज्‍यादा खराब हैं. फोटो: ANI

कोल्हापुर/सांगली (महाराष्ट्र), बढ़वानी (मप्र), निलांबर (केरल): महाराष्ट्र के साथ मध्‍यप्रदेश और केरल समेत देश के कुछ राज्‍यों में बारिश का कहर जारी है. महाराष्‍ट्र में पिछले एक सप्ताह से बारिश का अपना रौद्र रूप दिखा रही है. लगातर हो रही बारिश से जहां कोल्हापुर में 14 लोगों की मौत हो गई. वहीं सांगली में बचाव दल की एक नाव डूबने से 12 लोगों की मौत हो गई है. यह जानकारी मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने गुरुवार को दी. फड़णवीस ने सतारा और पुणे सहित बाढ़ से प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के बाद पत्रकारों से बातचीत की.

देवेंद्र फडणवीस ने कहा, "स्थिति बहुत विकट है, और उचित समय पर इस क्षेत्र में राष्ट्रीय आपदा घोषित की जाएगी." कोल्हापुर में जहां पिछले कुछ दिनों में बारिश के कारण 14 मौतें दर्ज की जा चुकी हैं, वहीं गुरुवार की सुबह सांगली के ब्रह्मनाल गांव में बाढ़ पीड़ितों के बचाव में जुटी नाव के डूबने से कम से कम 12 लोग डूब गए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि एनडीआरएफ की 13 टीमों के साथ ही राज्य आपदा निवारण टीम, भारतीय सेना, 14 नौसेना दल, एक तटरक्षक दल, वायु सेना और स्थानीय एंजेसी के 10 हजार से अधिक कर्मचारी दो जिले में युद्ध स्तर पर लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि बचाव कार्य में बाधा आ रही है, क्योंकि अधिकांश क्षेत्रों में अभी भी जल स्तर कम नहीं हो रहा है.

बता दें कि महाराष्ट्र पर अब तक 1.35 लाख से अधिक लोगों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से बचाकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है. वहीं हजारों लोग अभी भी भोजन, पेयजल, दवाई, बिजली और अन्य आवश्यक चीजें न मिलने पर जूझ रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि पुणे-बेंगलुरु हाईवे को साफ करने के प्रयास जारी हैं, ताकि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जल्द राहत सामग्री भेजने के अलावा लोगों की आवाजाही आसान हो सके.

मध्‍य प्रदेश में नर्मदा खतरे के निशान से ऊपर
मप्र में हो रही लगातार बारिश के कारण कई नदियां ऊफान पर हैं. खासकर नर्मदा में पानी खतरे के निशान से ऊपर है. बढ़वानी और मंदसौर जैसे इलाकों में हालात खराब हैं. यहां कई जगहों पर लोगों को एक सुरक्ष‍ित स्‍थानों पर भेजा गया है.

केरल में भारी बारिश से हालात खराब
भारी बारिश से केरल एक बार फिर पानी पानी है. केरल के नीलांबर में शहर बाढ़ के पानी में डूबा है. मल्‍लापुरम जैसे शहर भी बाढ़ के कारण परेशान हैं.

केरल के कोझीकोड में एनडीआरफ की टीम बचाव और राहत कार्य में लगी हुई हैं. पिछले साल के बाद केरल एक बार फिर से भयानक बाढ़ का सामना कर रहा है.

केरल के अलावा कर्नाटक के भी कई जिले बाढ़ के पानी में डूबे हैं. इससे पहले कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येद्द‍ियुरप्‍पा ने महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिखकर महाराष्‍ट्र के बांध से पानी न छोड़ने का आग्रह‍ किया था.