छत्तीसगढ़ में तीसरे दिन भी IT डिपार्टमेंट का रेड जारी, बड़ी मात्रा में कैश और गहने बरामद

कारोबारी विकास अग्रवाल मौके पर नहीं मिले तो आयकर विभाग के अधिकारियों ने उनका फ्लैट अपने कब्जे में लकर उस पर नोटिस चस्पा कर दिया. आयकर विभाग ने शुरुआत में जिन 32 ठिकानों पर छापा मारा था उनमें से 17 ठिकानों पर छानबीन की कार्रवाई पूरी हो चुकी है.

छत्तीसगढ़ में तीसरे दिन भी IT डिपार्टमेंट का रेड जारी, बड़ी मात्रा में कैश और गहने बरामद
छत्तीसगढ़ में कारोबारी विकास अग्रवाल के घर आयकर विभाग का छापा.

रायपुर: छत्तीसगढ़ में इनकम टैक्स विभाग की छापेमारी तीसरे दिन भी जारी रही. शनिवार को दिल्ली से आयरकर विभाग की बैकअप टीम छत्तीसगढ़ पहुंची. आयकर विभाग की इस कार्रवाई में तमाम चौंकाने वाली जानकारियां मिल रही हैं. आयकर विभाग की टीम रविवार सुबह कारोबारी विकास अग्रवाल के घर पहुंची.

कारोबारी विकास अग्रवाल मौके पर नहीं मिले तो आयकर विभाग के अधिकारियों ने उनका फ्लैट अपने कब्जे में लकर उस पर नोटिस चस्पा कर दिया. आयकर विभाग ने शुरुआत में जिन 32 ठिकानों पर छापा मारा था उनमें से 17 ठिकानों पर छानबीन की कार्रवाई पूरी हो चुकी है.

छत्तीसगढ़ में IT की कार्रवाई तीसरे दिन भी जारी
छत्तीसगढ़ में 15 ठिकानों पर आयकर विभाग की कार्रवाई जारी है. आपको बता दें कि रायपुर के मेयर एजाज ढेबर और पूर्व चीफ सेक्रेटरी विवेक ढांढ के घर आयकर विभाग की कार्रवाई पूरी हो चुकी है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बीते 27 फरवरी को छत्तीसगढ़ के सरकारी अधिकारियों के करीब 25 से अधिक ​ठिकानों पर छापेमारी की थी. यह कार्रवाई तीसरे दिन भी जारी रही. इससे पहले छापेमारी के लिए पहुंचे आयकर विभाग के अफसरों की गाड़ियों रायपुर पुलिस ने जब्त कर चालान काट दिया था.

आयकर विभाग को छापेमारी में मिले गहने-कैश
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अफसरों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के उप सचिव सौम्या चौरसिया के भिलाई स्थित घर पर किसी के नहीं मिलने पर उसे सील कर दिया जबकि IAS अनिल टुटेजा के घर पर भी कार्रवाई की. आयकर विभाग की टीम को छापेमारी के दौरान बड़ी मात्रा में कैश और गहने के साथ दस्तावेज भी मिले हैं जिसे जब्त कर लिया गया है. छापेमारी के दौरान आयकर विभाग को नोट गिनने के लिए अतिरिक्त मशीनें भी मंगानी पड़ी हैं.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में IT रेड पर पुनिया का पलटवार, कार्रवाई को बताया BJP की हार की हताशा

सरकार से जुड़े कई अफसरों के घर पड़ा छापा
आयकर विभाग को इस पूरी कार्रवाई के दौरान गैर कानूनी तरीके से राजनीतिक फंडिंग का भी अंदेशा था और शाम को इसकी पुष्टि हो गई. इसके चलते शनिवार को सीबीआई की टीम छत्तीसगढ़ पहुंची. वैसे तो इनकम टैक्स की कार्रवाई छत्तीसगढ़ के कई जिलों में चल रही है, लेकिन जो सबसे बड़े नाम सामने आए हैं वे रायपुर और भिलाई के ही हैं. रायपुर के मेयर एजाज ढेबर, पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड, आईएएस अनिल टुटेजा, भिलाई में आबकारी विभाग के ओएसडी एपी त्रिपाठी, मुख्यमंत्री की उपसचिव सौम्या चौरसिया ऐसे बड़े नाम हैं जिनके यहां आयकर विभाग ने छोपमारी की है.

छत्तीसगढ़ में सीबीआई के प्रवेश पर है प्रतिबंध 
आयकर विभाग के अफसरों के मुताबिक छत्तीसगढ़ में नौकरशाहों, अफसरों और नेताओं की मिली भगत से गैर जरूरी राजनतिक फंडिंग होती थी और हवाला के पैसों का इस्तेमाल होता था. दिल्ली से सीबीआई की टीम ने भी रायपुर और भिलाई का रुख किया है. हालांकि, भूपेश बघेल सरकार पहले ही राज्य में सीबीआई के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा चुकी है. ऐसे में सीबीआई को राज्य में किसी कार्रवाई के लिए न्यायालय से इजाजत लेनी होगी.

सीएम भूपेश बघेल ने कार्रवाई को बताया अवैध
आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य में आयकर विभाग की कार्रवाई को अवैध बताया है. वह इस मामले में कानूनी सलाह लेने के दिल्ली भी रवाना होने वाले हैं. वहीं छत्तीसगढ़ के चुनाव प्रभारी और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने राज्य में आयरकर विभाग की कार्रवाई को भारतीय जनता पार्टी के हार की हताशा और बौखलाहट का नतीजा बताया.