close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कमलनाथ कैबिनेट मंत्री का दावा, कांग्रेस में शामिल हुए BJP के 6 और विधायक, मचा हड़कंप

कमलनाथ कैबिनेट में मंत्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि 'अभी सिर्फ दो विधायक बीजेपी के कांग्रेस में शामिल हुए हैं. जल्द ही छह विधायक और कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं.'

कमलनाथ कैबिनेट मंत्री का दावा, कांग्रेस में शामिल हुए BJP के 6 और विधायक, मचा हड़कंप
मिलावट खोरी पर बोलते हुए लाखन सिंह ने कहा कि उनके प्रभार वाले जिले मुरैना में सबसे अधिक मिलावट खोर सक्रिय हैं. (फोटो साभारः facebook)

भोपालः मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन को लेकर चल रही अटकलों के बीच सूबे के कैबिनेट मंत्री लाखन सिंह ने छह और बीजेपी विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने की बात कहकर सत्ता के गलियारों में हलचल मचा दी है. कैबिनेट मंत्री लाखन सिंह का कहना है कि 'मध्य प्रदेश में बीजेपी का दांव उल्टा पड़ गया है. अभी दो विधायक बीजेपी के कांग्रेस में शामिल हुए हैं. जल्द ही छह विधायक और कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं.' गौरतलब, है कि दो दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि 'कर्नाटक के बाद बंगाल, बंगाल के बाद मध्य प्रदेश का नंबर होगा, जिसमें बीजेपी सत्ता परिवर्तन करेगी.' 

कैलाश विजयवर्गीय के इस बयान पर पूछे गए सवाल के जवाब में लाखन सिंह ने यह पलटवार किया है. इसके साथ ही आयकर विभाग द्वारा 2018 के विधानसभा चुनाव में आय और संपत्ति के ब्यौरे में गड़बड़ी को लेकर जारी नोटिस के सवाल पर उन्होंने कहा कि आयकर विभाग को कोई गलत जानकारी मिल गई है. जिसके चलते उन्होंने नोटिस जारी किया है. हम आज ही आयकर विभाग को अपना जवाब पेश कर देंगे. 

देखें लाइव टीवी

साथ ही उन्होंने मिलावट खोरी पर बोलते हुए कहा कि उनके प्रभार वाले जिले मुरैना में सबसे अधिक मिलावट खोर सक्रिय हैं. इन्हें भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का संरक्षण प्राप्त था. लेकिन उनकी जानकारी में लगते ही उन्होंने मुरैना के सभी इलाकों में अधिकारियों को लगातार छापामार कार्रवाई कर मिलावट खोरी को बंद कराने के निर्देश दे दिए हैं. जिसके बाद लगातार कार्रवाइयां जारी हैं और इसमें अभी तक कई मिलावटखोर पकड़े भी जा चुके हैं.

MP: क्रॉस वोटिंग घटनाक्रम और कांग्रेस सरकार गिराने वाले बयानों से बीजेपी आलाकमान नाराज

बता दें इससे पहले बीजेपी को मध्य प्रदेश में उस वक्त करारा झटका लगा था जब विधानसभा में एक विधेयक पर मत विभाजन के दौरान बीजेपी के दो विधायकों शरद कोल और नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को अपना समर्थन दिया था. राजनीतिक गलियारों में अभी यह चर्चा शांत भी नहीं हुई थी कि अब मंत्री लाखन सिंह यादव के बयान के बाद एक बार फिर मध्य प्रदेश बीजेपी में खलबली मच गई है.