'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' पौध घोटाला पर गरमाई सियासत, ''कांग्रेस नेता ने कहा सच आया सामने''

'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' में हुए पौध घोटाला की जांच जबलपुर संभाग के संचालक मनोज मेश्राम कर रहे हैं. उन्होंने 6 महीने की जांच के बाद पौध घोटाले में रिपोर्ट सौंपा है. हालांकि मामले में उच्च अधिकारियों के संलिप्त होने की वजह से मेश्राम को मुंह भी खोलने की इजाजत नहीं दी गई है. 

'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' पौध घोटाला पर गरमाई सियासत, ''कांग्रेस नेता ने कहा सच आया सामने''

भोपाल: मध्य प्रदेश में 'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' में पौधों की खरीदी का घोटाला सामने आने के बाद कांग्रेस प्रदेश की शिवराज सरकार पर हमलावर हो गई है. इसको लेकर कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट कर बीजेपी पर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान आखिरकार 'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' का सच सामने आ ही गया और करोड़ों का भ्रष्टाचार उजागर हो गया. कुल पौधे 6 करोड़ 67 लाख थे. तब के हमारे आरोप आज सच साबित हुए. सीएम पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि देते हैं भगवान को धोखा इंसा को क्या छोड़ेंगे? 

क्यों लगाऊं मास्क`, विवाद हुआ तो गृहमंत्री बोले-`माफी दे दो लगाऊंगा मास्क` फिर बिना मास्क नजर आए नरोत्तम

आपको बता दें कि 'नमामि देवी नर्मदे यात्रा' में हुए पौध घोटाला की जांच जबलपुर संभाग के संचालक मनोज मेश्राम कर रहे हैं. उन्होंने 6 महीने की जांच के बाद पौध घोटाला में रिपोर्ट सौंपा है. हालांकि मामले में उच्च अधिकारियों के संलिप्त होने की वजह से मेश्राम को मुंह भी खोलने की इजाजत नहीं दी गई है. 

 

मेश्राम की रिपोर्ट के आधार पर यह भी कहा जा रहा है कि पूरे मामले में लिप्त उपसंचालक राजेश राजौरिया को बचाने में मंत्रालय के अफसरों पर भी आरोप लग रहे हैं. जांच में यह बात सामने आई है कि राजौरिया ने निजी नर्सरी संचालकों को अधिकारियों ने उन पौधों का भी भुगतान कर दिया है, जिसकी अभी तक आपूर्ति ही नहीं की गई. 

जानकारी के मुताबिक जो पौधे लगाने के लिए मंगाए गए थे. उनमे करीब ढाई लाख पौधे नर्सरी से लिए ही नहीं गए और इसके एवज में 2 करोड़ रुपये का भुगतान भी कर दिया गया था. 

जांजगीर-चांपा: ड्यूटी से लौट रहे नगर सैनिक की धारदार हथियार से हत्या

वहीं, पौध खरीदी के मामले में हुई गड़बड़ी की खबरों को लेकर उद्यानिकी मंत्री भारत सिंह ने जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि अगर पिछले समय में पौध खरीदी में कोई गड़बड़ी हुई है तो वे शिकायत मिलने पर जांच कराएंगे. उन्होंने कहा कि किसी भी सरकारी कार्यक्रम के लिए निजी नर्सरियों से पौधों की खरीदी नहीं की जाएगी. इस संबंध में विभाग ने भी आदेश जारी कर दिया है.

Watch Live TV-