मंदिर के बर्तन में खाना बनाने को लेकर महंत को उतारा था मौत के घाट, 15 दिन बाद हुआ खुलासा

पुलिस का कहना है कि आरोपी ने कुटिया के बर्तन में  खाना बनाया था. जिससे महंत नाराज हो गए और दोनों के बीच विवाद हुआ था. इसी बीच आरोपी ने फावड़ा और कुल्हाड़ी मारकर महंत की हत्या कर दी थी.आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मंदिर के बर्तन में खाना बनाने को लेकर महंत को उतारा था मौत के घाट, 15 दिन बाद हुआ खुलासा
फाइल फोटो.

ग्वालियर: ग्वालियर शहर से 35 किमी दूर डंगोरा गांव (हस्तिनापुर) में सिद्ध बाबा मंदिर के महंत जानकीदास की हत्या के मामले में पुलिस ने 15 दिन बाद खुलासा किया है. पुलिस का कहना है कि आरोपी ने कुटिया के बर्तन में  खाना बनाया था. जिससे महंत नाराज हो गए और दोनों के बीच विवाद हुआ था. इसी बीच आरोपी ने फावड़ा और कुल्हाड़ी मारकर महंत की हत्या कर दी थी.आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

ये भी पढ़ें-शिवराज ने कही नाइट कर्फ्यू की बात, कांग्रेस बोली- कोरोना कादर खान है, जिसे रात में दिखेगा नहीं?

एसपी अमित सांघी के मुताबिक आरोपी पड़ोस के गांव की एक महिला का दोस्त था. वह अक्सर उससे मिलने आया करता था. मुलाकात के बाद वह मंदिर आता था, जिसकी वजह से उसकी जान-पहचान महंत के साथ भी हो गई थी. 

अमित सांघी ने बताया कि इस हत्याकांड को सुलझाने के लिए ग्रामीण क्षेत्र के तीन थानों की पुलिस लगी रही, तब जाकर 15 दिन बाद इस पूरे हत्याकांड का खुलासा हो सका है. आरोपी इससे पहले  भी हत्या के मामले में जेल जा चुका है.

ये भी पढ़ें-पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर जनता को दी थी सलाह, अब खुद गाड़ी से सा​इकिल पर आए मंत्री

पूरा मामला
दरअसल 19 फरवरी की आधी रात सिद्ध बाबा मंदिर के महंत जानकीदास की हत्या कर दी गई थी. महंत के सिर और चेहरे पर कुल्हाड़ी और  फावड़े से जानलेवा हमला किया गया था. अगले दिन जब लोग मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे तो हत्या का पता चल पाया था. मंहत का शव रजाई से ढंका था. जिसे देख ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच में जुट गई थी.

Watch LIVE TV-