जोबट उपचुनावः बेरोजगारी-पलायन सबसे बड़ी परेशानी, किसानों को पानी की समस्या, क्या इस बार पूरी होगी उम्मीद
X

जोबट उपचुनावः बेरोजगारी-पलायन सबसे बड़ी परेशानी, किसानों को पानी की समस्या, क्या इस बार पूरी होगी उम्मीद

MP By Election 2021: दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं ने अपनी-अपनी पार्टी की जीत का दावा किया. वहीं कांग्रेस को पूरा विश्वास है कि उनके उम्मीदवार महेश पटेल भारी बहुमत से जीत हासिल करेंगे.

जोबट उपचुनावः बेरोजगारी-पलायन सबसे बड़ी परेशानी, किसानों को पानी की समस्या, क्या इस बार पूरी होगी उम्मीद

वासु चौरे/जोबटः MP By Election 2021: मध्य प्रदेश में इस बार चार सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं. अलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा भी उन्हीं में से एक है. जोबट सीट (Jobat Seat) पर कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी. वहीं जनता के मुद्दों को देखते हुए ही इस बार का उपचुनाव लड़ा जाना है. इन्हीं मुद्दों को पता लगाने जी मीडिया संवाददाता वासु चौरे ने ग्राउंड रिपोर्टिंग की. यहां जानें उन्होंने क्या पता लगाया. 

बेरोजगारी और पलायन से परेशान जनता
जानकारी मिली कि जोबट की जनता की सबसे बड़ी परेशानी बेरोजगारी है, जिनके पास खेत हैं, उन्हें कम परेशानी है. लेकिन जिनके खेत नहीं है, उनके पास मजदूरी के अलावा और कोई ऑप्शन नहीं हैं. इस कारण यहां के लोगों को गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश के अन्य जिलों में जाकर काम ढूंढना पड़ रहा है. 

पलायन करने वालों में युवाओं के साथ ही नाबालिग बच्चे और महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल हैं. जी मीडिया की पड़ताल में पता चला कि इन लोगों ने अब भी तय नहीं किया है कि इस चुनाव में उन्हें किसे वोट देना है. लेकिन रोजगार के मुद्दों पर यहां जरूर चुनाव लड़ा जाएगा. 

यह भी पढ़ेंः- आस्था के नाम पर अंधविश्वासः यहां राम-रावण की सेना के बीच होता है अनूठा युद्ध, इस तरह होती है रामजी की विजय

उद्योगों की भारी कमी!
यहां उद्योगों की भी भारी कमी है, इसी कारण लोगों के रोजगार का मुख्य साधन खेती और बिजनेस ही है. लेकिन बारिश की कमी के कारण किसानों की समस्याएं भी कम नहीं हैं. बारिश से परेशान किसानों का कहना है कि सूखे जैसे हालात हैं, राहत के नाम पर अब तक कुछ नहीं मिला. पानी की भी भारी किल्लत है. बिजली भी पूरे समय नहीं मिलती. 

किसानों का कहना है कि वे उसी प्रत्याशी को वोट देंगे जो उनके लिए पानी और 24 घंटे बिजली की व्यवस्था उपलब्ध करा सकेगी. ताकि किसानी भी लाभ का धंधा बन सके. उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार जाने के बाद से उनका ऋण माफ नहीं हुआ है. 

आदिवासियों को साधने में लगी कांग्रेस
जोबट विधानसभा उप चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टी के कार्यकर्ता जनता के बीच जाकर अपने प्रत्याशियों के लिए वोट मांगने के लिए पहुंच रहे हैं. कांग्रेस जहां बेरोजगारी, महंगाई, सड़क, पानी और बिजली के मुद्दे को उठा रही है. आदिवासी इलाके को देखते हुए यहां जनजाति समुदाय से जुड़े मुद्दों पर ही फोकस भी रहेगा.

यह भी पढ़ेंः- 4 पीढ़ियों से रावण का पुतला बना रहा ये मुस्लिम परिवार, त्योहार पर दिया संदेश- दशहरा पर दें बुराई को मात

सरकार के काम पर चुनाव लड़ रही BJP
कांग्रेस के मुद्दे तय हैं, वहीं बीजेपी शिवराज सरकार की योजनाओं, विकास के कामों और सीएम की घोषणाओं को लेकर क्षेत्र की जनता के बीच जा रही है. सुलोचना रावत के कांग्रेस से बीजेपी में जाने के बाद दल-बदल भी क्षेत्र में बड़ा मुद्दा है. लेकिन बीजेपी इसे नकार रही है. दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं ने अपनी-अपनी पार्टी की जीत का दावा किया. वहीं कांग्रेस को पूरा विश्वास है कि उनके उम्मीदवार महेश पटेल भारी बहुमत से जीत हासिल करेंगे. 

यह भी पढ़ेंः- MP By Election 2021: जोबट सीट पर भिलाला वोटर रहेंगे जीत की कुंजी, समझिए इस सीट का पूरा जातीय गणित

WATCH LIVE TV

Trending news