एक ऐसा पेड़, जो दिन में पूरा सूखा और रात में अचानक से हरा हो जाता है, जानिए इस रहस्य के बारे में

विदिशा में रेलवे स्टेशन के 4 नंबर प्लेटफॉर्म पर एक ऐसा पीपल का पेड़ है, जो दिन में तो सूखा नजर आता है, लेकिन रोज रात वो हरा हो जाता है. 

एक ऐसा पेड़, जो दिन में पूरा सूखा और रात में अचानक से हरा हो जाता है, जानिए इस रहस्य के बारे में
Play

दीपेश शाह/विदिशा: विदिशा में रेलवे स्टेशन के 4 नंबर प्लेटफॉर्म पर एक ऐसा पीपल का पेड़ है, जो दिन में तो सूखा नजर आता है, लेकिन रोज रात वो हरा हो जाता है. दरअसल, रात होते ही इस सूखे पेड़ की डालियों पर हजारों तोते बैठ जाते हैं, और उसके बाद ऐसा लगने लगता है मानों पेड़ पर हरे-भरे पत्ते लगे हों. आस-पास के लोग इन तोतों को देखने और सेल्फी लेने भी आते हैं. प्रकृति के इस नज़ारे को देखकर लोग न केवल सुकून पा रहे बल्कि प्रकृति के प्रति जागरूक भी हो रहे हैं. उन्हें एक पेड़ का मोल और बेजुबान पक्षियों की परेशानी और जीवनशैली से लगाव हो रहा है.

हाइवे पर बेरहमी से एक युवक को पीटते रहे बदमाश, लोग तमाशा देखते रहे और निकलते रहे

दरअसल यहां एक पीपल का पेड़ है जो एक ही दिन में दो मौसम से गुजरने का एहसास करता है. यह दिन में पतझड़ के मौसम की तरह बिल्कुल सूख जाता है. एक भी पत्ता इसकी टहनियों पर नहीं दिखता लेकिन शाम को सूर्यास्त के बाद इस पेड़ पर बसंत की बहार आ जाती है और यह पूरा हरा भरा हो जाता है.

हजारों तोते की आवाज से मंत्रमुग्ध
लोग इस चमत्कार को देखकर हैरान हो जाते हैं, फिर हज़ारों तोतो की आवाज़ सुनते ही मन्त्रमुग्ध हो जाते है और उन्हें हरियाली का रहस्य समझ आता है. 
इसके आसपास भी कुछ और पेड़ है जो हरेभरे है, उनपर भी तोते बैठते हैं, लेकिन लोगों के आकर्षण का केंद्र यह पेड़ बना हुआ है. पेड़ के पास ही फोटो कॉपी की दुकान चलाने वाले महेंद्र किरार ने बताया कि उनका निवास भी यहीं है. वह पिछले 40 वर्षों से इस पेड़ को देख रहे है. रेलवे ने उन समय यहां वृक्षारोपण किया था, तब यह पेड़ लगाया था. लेकिन यह तोते जब पिछले साल लॉकडाउन हुआ था ट्रेन भी नहीं चल रही थी, तब से अचानक यह हज़ारों की तादाद में यह तोते इस पेड़ और बैठने लगे. मानों शाम को उसके पत्ते उग आते हो.

एक ऐसा पेड़ जो दिन में सूखा और रात में हो जाता है हरा, देखिए इसके पीछे का रहस्य VIDEO

दिनभर की थकान मिट जाती है
इस पेड़ को देखने बहुत लोग आते है. हमें भी यह काफी मनभावन और सुकून मिलता है. पेड़ के नीचे ऑटो खडा करने वाले चैन सिंह ने बताया कि शाम को इसको देखने बहुत लोग आते है और सेल्फी बगैरह भी लेते है. हमे वहां सेल्फी लेते विनोद श्रीवास्तव मिले उन्होंने बताया कि वह रोज स्टेशन आते है इन तोतो को देखने और सेल्फी लेने इससे मुझे काफी सुकून मिलता है और दिनभर की थकान मिट जाती हैं.

WATCH LIVE TV