CORONA से लोगों को बचाने के लिए पुलिस ने लिया दबंग और बाहुबली का सहारा, फिल्मी भाषा में समझाया

लॉकडाउन 3.0 के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए पुलिस नए-नए तरीके अपना रही है. वहीं छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में पुलिस ने बॉलीवुड का सहारा लिया है.

CORONA से लोगों को बचाने के लिए पुलिस ने लिया दबंग और बाहुबली का सहारा, फिल्मी भाषा में समझाया
पोस्टर के जरिए पुलिस ने लोगों को समझाया

रायगढ़ : लॉकडाउन 3.0 के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए पुलिस नए-नए तरीके अपना रही है. वहीं छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में पुलिस ने बॉलीवुड का सहारा लिया है. पुलिस ने फिल्मों के डायलॉग वाले पोस्टर लगाकर लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व समझाया है.

शहर के सार्वजनिक स्थलों पर जो पोस्टर लगाए गए हैं, उनमें बॉलीवुड फिल्म शोले, बाजीगर, थ्री इडियट, दबंग, शहंशाह और बाहुबली जैसी चर्चित फिल्मे हैं. इन फिल्मों के डायलॉग को रीक्रिएट कर कोरोना वायरस के संक्रमण से खुद को और दूसरों को कैसे बचाएं, इसको लेकर जगरूकता वाले संदेश दिखाए गए हैं.

पोस्टर में शोले फिल्म का प्रमुख डायलॉग 'जब बच्चा रोता है  तो मां कहती है बेटा सो जा वरना गब्बर आ जाएगा',  इस डायलॉग को रीक्रिएट कर रायगढ़ पुलिस ने लिखा है 'जब बच्चा बाहर से आता है तो मां कहती है हाथ धो लो वरना करोना वायरस आ जाएगा'. 
वहीं बाहुबली फिल्म के डायलॉग 'जब आप मेरे साथ हो, तो मुझे मारने वाला पैदा नहीं हुआ मामा', इसे बदलकर 'जब तक मेरे चेहरे पर मास्क है मुझे मारने वाला कोई कोरोना पैदा नहीं हुआ मामा'...ऐसी  कई फिल्मों के डायलॉग को रीक्रिएट कर  शहर के प्रमुख स्थानों पर  चिपकाया गया है.

एडिशनल एसपी अभिषेक वर्मा का कहना है कि बॉलीवुड फिल्मों के डायलॉग को रीक्रिएट कर कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता संदेश देने वाला बनाया गया है. इसे शहर के गली-चौक-चौराहों पर चिपकाया गया है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में अब घर पहुंचाई जाएगी शराब, ठेकों के बाहर उमड़ी भीड़ के बाद सरकार ने लिया ये फैसला

पुलिस अफसर अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन के तीसरे चरण में लोगों के बीच जागरूकता ही कोरोना वायरस से लड़ने का माध्यम है. लोग जाने अनजाने में छूट मिलने के कारण सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का पालन नहीं कर पाते, ऐसे में ये पोस्टर लोगों को संदेश देने का काम करेंगे.

watch live tv: