निर्दयी मांः 6 महीने के बच्चे को किसी की गोद में छोड़ गई, 5 मिनट का बोल वापस नहीं लौटी

निर्दयी मांः 6 महीने के बच्चे को किसी की गोद में छोड़ गई, 5 मिनट का बोल वापस नहीं लौटी

मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में एक महिला भरे बाजार में अपना बच्चा किसी को थमा कर वहां से चली गई और वापस नहीं लौटी.

निर्दयी मांः 6 महीने के बच्चे को किसी की गोद में छोड़ गई, 5 मिनट का बोल वापस नहीं लौटी

चंद्रशेखर सोलंकी/रतलाम: वैसे तो मां की ममता की किसी से तुलना नहीं की जा सकती. मां वो है जो अपने बच्चे को अपनी नजरों से कुछ पल के लिए भी दूर नहीं जाने देती. लेकिन एक मां ऐसी भी है जो अपने बच्चे को छोड़कर खुद उसे अपने से दूर कर चुकी है. हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के रतलाम जिले की. जहां एक महिला भरे बाजार में अपना बच्चा किसी को थमा कर चली गई और वापस नहीं लौटी.

मामला बुधवार दोपहर की है. जब एक मां अपने बच्चे को अन्य महिला को थमा कर 5 मिनट में लौटने का बोलकर वहां से चली गई. काफी समय बीत जाने के बाद भी वह नहीं लौटी. जिसके बाद देर शाम वह महिला बच्चे को लेकर पुलिस के पास पहुंची. पुलिस ने मासूम की मां की तलाश शुरू की, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला.

ये भी पढ़ें-दो लड़कों में हुआ प्यार और कर ली शादी, अब अप्राकृतिक कृत्य का लगाया आरोप

जब जी मीडिया को इस बात की जानकारी हुई. जी मीडिया ने इसकी सूचना चाइल्ड लाइन को दी. जिसके बाद चाइल्ड लाइन ने मामले में सज्ञान लेते हुए बच्चे को पुलिस के माध्यम से देर रात में रेस्क्यू कर अपनी कस्टडी में लिया.

चाइल्ड लाइन के टीम मेंबर अरुण कुमार ने बताया कि एक महिला अपने 6 महीने के मासूम बच्चे को मैजिक वाहन एमपी 41 आर 1070 में बैठी अन्य महिला के पास छोड़कर चली गयी.वह दोपहर 3 बजकर 5 मिनट पर वहां से थोड़ी देर में वापस आने का कहकर गयी थी. रतलाम बाल चिकित्साल्य में बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया है, बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है.

चाइल्ड लाइन ने पुलिस से बच्चे की सुपुर्दगी ली और फिर नियमानुसार देर रात ही मासूम बच्चे को CWC ( Child Welfare Committee ) सदस्य सुमित्रा अवतानी के समक्ष प्रस्तुत किया. इसके बाद CWC (Child Welfare Committee) के आदेश से मासूम को अस्थायी रूप से मातृछाया सेवा भारती शिशु ग्रह भेजा गया.

चाइल्ड लाइन व पुलिस द्वारा बच्चे के परिजनों की तलाश की जा रही है. जब तक CWC का अगला आदेश नहीं आता, बच्चा शिशु गृह में ही रहेगा. बता दें कि रतलाम में इस तरह मिलने वाले बच्चों के लिए कुछ दिन पहले तक कोई शिशु गृह नहीं था. सेवा भारती द्वारा 2 महीने पहले ही इसका निर्माण हुआ है और अब यह पहला बच्चा है जो इस नव निर्मित शिशु गृह में आया है. 

Watch LIVE TV-

Trending news