इस वित्तमंत्री के नाम है सबसे ज्यादा बजट पेश करने का रिकॉर्ड, दो बार जन्मदिन पर भी मिला मौका
topStories1rajasthan837940

इस वित्तमंत्री के नाम है सबसे ज्यादा बजट पेश करने का रिकॉर्ड, दो बार जन्मदिन पर भी मिला मौका

भारत में अब तक सबसे ज्यादा आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड देश के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है. उन्होंने वित्त मंत्री रहते हुए 10 बार आम बजट पेश किया है. उन्होंने दो बार देश का बजट अपने जन्मदिन के दिन भी पेश किया है.

इस वित्तमंत्री के नाम है सबसे ज्यादा बजट पेश करने का रिकॉर्ड, दो बार जन्मदिन पर भी मिला मौका

भोपालः वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 का आम बजट पेश करेंगी. निर्मला सीतारमण बतौर वित्तमंत्री अपना तीसरा बजट पेश करने जा रही हैं. कोरोना काल के बाद यह बजट देश के हर वर्ग के लिए खास माना जा रहा है. काराबोरी, निवेशक, किसान, छोटे व्यापारियों से लेकर देशभर के आम लोगों की उम्मीदें इस बजट से जुड़ी हुई है. लेकिन क्या आप जानते है कि देश में अब तक सबसे ज्यादा बजट किस वित्तमंत्री ने पेश किया है?

मोरारजी देसाई ने पेश किया सबसे ज्यादा बजट
भारत में अब तक सबसे ज्यादा आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड देश के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है. उन्होंने वित्त मंत्री रहते हुए 10 बार आम बजट पेश किया. मोरारजी देसाई 13 मार्च 1958 से लेकर 29 अगस्त 1963 तक देश के वित्तमंत्री रहे. इसके बाद वे 1967 से 1969 तक फिर वित्तमंत्री रहे. इस दौरान उन्होंने कुल 10 बजट पेश किए, जबकि दो बार अंतरिम बजट भी मोरारजी देसाई ने पेश किया है.

ये भी पढ़ेंः क्या होता है Economic Survey, आसान भाषा में समझिए , जानिए इसे बजट के पहले क्यों पेश किया जाता है

दो बार जन्मदिन पर भी पेश किया बजट
खास बात यह है कि मोरारजी देसाई का जन्म दिन 29 फरवरी को आता है, यानि चार साल में एक बार उनका जन्मदिन आता है. 1964 और 1968 में उन्होंने अपने जन्मदिन के दिन ही देश का बजट पेश किया है. यह भी एक रिकॉर्ड है. देसाई ने 6 बार वित्तमंत्री रहते हुए बजट पेश किया, जबकि 4 बार उपप्रधानमंत्री रहते हुए आम बजट पेश किया.

पी चिदंबरम ने 9 बार पेश किया बजट
मोरारजी भाई देसाई के बाद सबसे ज्यादा बार आम बजट पेश का रिकॉर्ड पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम के नाम है. चिदंबरम ने 9 बार देश का आम बजट पेश किया है. पी चिदंबरम पहली बार 1996 से 21 अप्रैल 1997 तक वित्तमंत्री रहे, इसके बाद इंद्रकुमार गुजराल के नेतृत्व में बनी सरकार में उन्हें एक बार फिर वित्तमंत्री बनाया गया. इस दौरान मई 1997 से लेकर 19 मार्च 1998 तक चिदंबरम वित्तमंत्री रहे. इसके बाद मनमोहन सिंह के नेतृत्व में बनी यूपीए-1 और यूपीए-2 में भी चिदंबरम ने वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली.

ये भी पढ़ेंः Budget 2021: मोदी सरकार इन प्रोडक्ट पर कस्टम ड्यूटी में कर सकती है बदलाव, जानिए क्या सस्ता होगा और क्या महंगा?

 

पी चिदंबरम के बाद देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बतौर वित्तमंत्री रहते हुए 8 बार बजट पेश किया. जबकि यशवंतराव चव्हान, सीडी देशमुख और यशवंत सिन्हा ने 7 बार देश का आम बजट पेश किया था. देश के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने वित्तमंत्री रहते हुए 6 बार आम बजट पेश किया. जबकि पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 5 बार देश का आम बजट पेश किया. जबकि देश के चौथे वित्तमंत्री रहे टीटी कृष्णामचारी ने 4 बार बजट पेश किया है.

इस वित्तमंत्री ने बदला बजट पेश करने का समय
खास बात यह है कि पहले देश में आम बजट शाम को 5 बजे पेश किया जाता था. लेकिन अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बनी एनडीए (NDA) सरकार में बजट पेश करने का समय बदला गया. पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने बजट पेश करने का समय 5 बजे से बदलकर सुबह 11 बजे कर दिया. जिसके बाद फिर बजट सुबह 11 बजे से पेश किया जाने लगा.

ये भी पढ़ेंः 5G तकनीक से बदल जाएगी दुनिया! भारत बस चंद महीने दूर, जानिए क्या होगा असर

बजट पेश करने वाले ये दो पूर्व वित्तमंत्री बाद में राष्ट्रपति भी बने
पूर्व राष्ट्रपति आर वेंकटरमण और प्रणब मुखर्जी ऐसे दो पूर्व वित्तमंत्री रहे, जो बाद में देश के राष्ट्रपति भी बने. आर वेंकटरमण ने वित्तमंत्री रहते हुए 3 बार बजट पेश किया, जबकि प्रणब मुखर्जी ने वित्तमंत्री रहते हुए 8 बार बजट पेश किया. जसवंत सिंह, वीपी सिंह, आरके शानमुखम चेट्टी और जॉन मथाई ने वित्तमंत्री रहते हुए दो-दो बार बजट पेश किया.

1 बार बजट पेश करने वाले वितमंत्री
इसके अलावा देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, चरण सिंह, एनडी तिवारी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, मधु दंडवते, सचिंद्र चौधरी और एसबी चव्हाण ऐसे में वित्त मंत्री रहे जिन्होंने एक-एक बार देश का आम बजट पेश किया.

ये भी पढ़ेंः हलवा सेरेमनी के साथ शुरू हुई बजट की उल्टी गिनती, जानिए क्या है यह आयोजन

WATCH LIVE TV

Trending news